भारत जोड़ो यात्रा को विधायक ने दिया नया रंग.. गेहूं पीसा,सब्जी तौला..पढ़ें..फिर दुकानदार ने क्या कहा..

बिलासपुर—राहुल गांधी की  कन्याकुमारी से कश्मीर तक भारत जोड़ों यात्रा के साथ पूरे देश में कांग्रेस नेताओं की भी क्षेत्रीय स्तर पर भारत जोड़ो चल रही है। छत्तीसगढ़ में भी पीसीसी प्रमुख मोहन मरकाम के निर्देश पर एक जिला से लेकर ब्लाक और गांव स्तर पर सभी कांग्रेस नेता भारत जोड़ों यात्रा कर रहे हैं। बिलासपुर में भी भारत जोड़ों यात्रा का जगह जगह स्वागत किया जा रहा है।

                           सरकन्डा ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष विनोद साहू की अगुवाई में आयोजित भारत जोड़ों यात्रा में विधायक शैलेष पाण्डेय समेत सैकड़ों कांग्रेसियों ने हिस्सा लिया। इस दौरान एक कांग्रेस नेताओं ने  घर घर दस्तक  देकर राहुल के संदेश को एक सदस्य तक पहुंचाया। यात्रा के दौरान विधायक शैलेष पाण्डेय भी अलग अंदाज में नजर आए। इस अंदाज को आम जनता ने जमकर पसंद किया।

                            यात्रा के दौरान शैलेष पाण्डेय ने ठेला खोमचा और दुकानदारों से जीवंत संवाद किया। आटा चक्की दुकान में दाखिल होकर गेंहूं पीसा। गेहूं पीसते मशीन के साथ विधायक को देखते ही हुजुम उमड़ गया। इस दौरान विधायक ने बार बार गेहूं को इधर उधर किया। दुकानदार से जानने का प्रयास भी किया कि दिन भर में कितनी कमाई होती है। दुकानदार ने बताया कि महंगाई ने कमर तोड़ दिया है। बिजली बिल में थोड़ी राहत है..अन्यथा परिवार को पाना मुश्किल हो जाता। 

                       शैलेष पाण्डेय ने सब्जी विक्रेता से भी सवाद किया। सब्जी का रेट भी पूछा। साथ ही एक किलो आलू भी खऱीदा। सब्जी विक्रेता ने बताया कि वह महंगाई से बहुत परेशान है। आलू चालिस रूपए किलो है। इस दौरान उसने अन्य सब्जियों का भी दाम बताया। विधायक ने खुद कांटा उठाकर आलू तौला और पांच रूपयों का भुगतान भी किया। 

                    दुकानदार ने भी एलान किया कि बेशक आलू चालिस रूपये में बिक रहा है। लेकिन वह  5 सौ रूपए खर्च होने तक 20 रूपए किलो आलू बेचेगा।

         शैलेष पाण्डेय ने बताया कि केन्द्र की भाजपा सरकार ने गरीब जनता के मुंह से निवाला छीन लिया है। महंगाई आसमान पर है। जनता पेट्रोल डीजल की मार से त्रस्त है। केन्द्र की मोदी सरकार को इस बात की कोई चिन्ता नहीं है कि गरीब जनता पर क्या बीत रही है।

           विधायक ने कहा…देश की सम्पति को नीलाम किया जा रहा है। फिरकापरस्त नीतियों के चलते समाज के बीच बड़ी खाई बन गयी है। राष्ट्र की एकता को खतरा बढ़ गया है। राहुल गांधी ने इन्ही खतरों को देखते हुए भारत को एक और नेक बनाने कन्याकुमारी से कश्मीर की भारत जोड़ो पदयात्रा कर रहे हैं। केन्द्र सरकार राहुल की पदयात्रा से भयभीत हो गयी है। प्रायोजित समस्या कर उनके साथ कांग्रेस पर निशाना साधा जा रहा है। जबकि हम सभी लोगो को अच्छी तरह से पता है कि जब देश की जनता आजादी की जंग लड़ रही थी। उस समय आरएसएस के नेता अंग्रेजों के गलबहियां कर रहे थे।          

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *