केन्द्रीय मंत्री का प्रदेश सरकार पर हमला..पूछा- ईडी से डर क्यों?मुख्यमंत्री को दूंगा सलाह..संयमित भाषा करें उपयोग..उन्हें मालूम नहीं.देशहित में RSS का योगदान

बिलासपुर—-केन्द्र सरकार के खाद्य प्रसंस्करण एवं जल शक्ति मंत्री प्रहलाद पटेल  दोपहर बिलासपुर पहुंचे। उन्होने बताया कि देश की तुलना में छत्तीसगढ़ में नल जल योजना की हालत अच्छी नहीं है। हमने आज बिलासपुर में बैठक लेकर योजना को जल्द से जल्द गति देने को कहा है। हमे सिर्फ पैसा देना है। लेकिन सरकार की गति बहुत ही मंदर है। सवाल जवाब के दौरान उन्होने कहा कि जहां चोरी होगी ..ईडी का छापा वहीं पड़ेगा। यहां के मुख्यमंत्री को इस बात को समझना चाहिए कि वह क्या बोल रहे हैं। उन्होने राहुल गांधी की पदयात्रा पर कटाक्ष किया बताया  कि वह पहले अपनी पार्टी जोड़ लें। 

                      एक दिनी प्रवास पर केन्द्रीय मंत्री भारत सरकार प्रहलाद पटेल बिलासपुर पहुंचे। उन्होने बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत किया। मंत्री ने बताया कि भारत सरकार ने इस साल जल जीवन मिशन के लिए 60 हजार करोड़ रखे थे। लेकिन छत्तीसगढ़ में जल मिशन योजना क्रियान्यवयन में बहुत पीछे है। देश का प्रतिशत 52 प्रतिशत से अधिक है। कहना पड़ रहा है कि छत्तीसगढ़ में यह आंकड़ा आधा भी नहीं है। हम तीन गुना पैसा देने को तैयार है। लेकिन राज्य सरकार को गांव और गरीब तक पानी नहीं पहुंचा पा रही है। 

              प्रहलाद पटेल ने बताया कि हमें बताया कि साल 2024 तक योजना को पूरा कर लेंगे। जबकि वादे के अनुसार देश के कई राज्यों ने लक्ष्य हासिल कर लिया है। लेकिन कहने में ठीक नहीं लग रहा है कि छत्तीसगढ़ की स्थिति अच्छी नहीं है।

                           क्या प्रदेश में कांग्रेस की सरकार होने के कारण..ऐसा हो रहा है। सवाल के जवाब में केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि हम आरोप प्रत्यारोप नहीं..बल्कि मिलकर काम करने पर विश्वास करते हैं। टारेगट इन्होनें ही दिया है..हमने नहीं।हमें तो केवल पैसा देना है।

                   राहुल गांधी की कांग्रेस यात्रा के सवाल पर कहा कि पहले वह अपनी पार्टी बचा लें। एक अन्य सवाल के जवाब में उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री को बिना मांग सलाह दे रहा हूं कि बोलते समय कम से कम मर्यादा का पालन करना चाहिए। कम से कम आरएसएस के योगदान को ना सराहें..इस बात को लेकर कोई आपत्ती नहीं है। लेकिन असंयम की भाषा ना तो देश के लिए बेहतर है..और ना ही उनके लिए।

                     केन्द्र सरकार विपक्ष को परेशान करने के लिए ईडी और आईटी को हथियार बना रही है। जवाब में उन्होने बताया कि बेईमानी नहीं करो..फिर डरना क्यो…क्या सिर्फ विपक्ष में ही बेईमानी हो रही है..उन्होने सवाल को टालते हुए अनसुना सा जवाब दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.