इंडिया वाल

केरल सहित 17 राज्यों में 19 अक्टूबर तक भारी बारिश होने की संभावना, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

दिल्ली।देश के कई हिस्सों से मानसून वापस लौट गया हो, लेकिन कुछ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में बारिश हो रही है. केरल के कुल पांच जिले शनिवार को रेड अलर्ट पर हैं, जबकि कम से कम सात अन्य जिलों में भी ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है. इस बीच, केरल के इडुक्की में कई लोगों की जान चली गई, जबकि कोट्टायम में भूस्खलन की कई घटनाओं के बाद कई लोग लापता हैं.

केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने बचाव अभियान में भारतीय वायु सेना की मदद मांगी है. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने न केवल केरल के लिए बल्कि मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, आंध्र प्रदेश, उत्तराखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख सहित 16 अतिरिक्त राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में और बारिश की भविष्यवाणी की है. मौसम विभाग ने कहा है कि 19 अक्टूबर तक बारिश होने की संभावना है.

कम दबाव के क्षेत्र के कारण इन सभी क्षेत्रों क्षेत्रों में बारिश होने की संभावना जताई जा रही है. मौसम विभाग के अनुसार, एक कम दबाव का क्षेत्र दक्षिण-पूर्व अरब सागर और उससे सटे केरल के ऊपर स्थित है. एक और कम दबाव का क्षेत्र उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश और उसके आसपास के इलाकों में बना हुआ है. इस कम दबाव के चक्रवाती सर्कुलेशन का आमतौर पर उत्तर-पश्चिम यानि पश्चिम उत्तर प्रदेश की ओर बढ़ने की संभावना है.

वहीं, केरल के दक्षिण और मध्य हिस्से में शनिवार को भारी बारिश की वजह से कई स्थानों पर अचानक आई बाढ़ और कई स्थानों पर भूस्खलन से कम से कम छह लोगों की मौत हो गई जबकि करीब एक दर्जन लोग लापता हैं. बारिश के कारण भयावह हुई स्थिति के मद्देनजर राज्य सरकार को राहत और बचाव कार्य के लिए सेना से मदद का अनुरोध करना पड़ा है. राज्य के अधिकतर बांध अपनी पूरी क्षमता से भर चुके हैं और भूस्खलन की वजह से पहाड़ों में बसे कई छोटे कस्बे और गांव शेष दुनिया से कट गए हैं.

6 खाद दुकानों के लाईसेंस निरस्त,आईडी जब्त

सीएम पिनराई विजयन स्थिति को बताया गंभीर

कोट्टयम, इडुकी और पथनमथिट्टा जिलों के पहाड़ी इलाकों में कुछ ऐसी ही स्थिति उत्पन्न हो गई है जैसी स्थिति वर्ष 2018 और 2019 की विनाशकारी बाढ़ के दौरान उत्पन्न हुई थी. हालांकि, अधिकारियों का कहना है कि स्थिति नियंत्रण में है और भयभीत होने की जरूरत नहीं है। दावे के बावजूद राज्य पुलिस और दमकल विभाग की राहत टीम बाढ़ और खराब मौसम की वजह से प्रभावित इलाकों तक नहीं पहुंच पा रही है. मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा, ‘‘स्थिति गंभीर है.’ अधिकारियों ने बताया कि थलसेना, वायुसेना और नौसेना के जवान कोट्टयम के कूट्टीकल और इडुकी के पेरुवनथानम पहाड़ी गांव पहुंच रहें हैं जहां पर नदी कई घरों को बहा ले गई है और कई लोग विस्थापित हुए हैं.

Back to top button
CLOSE ADS
CLOSE ADS