घर से स्कूल गयी..छात्रा रायगढ़ में बरामद..1 अन्य मामले में सक्ती से युवक गिरफ्तार..नाबालिग जब्त

बिलासपुर—चकरभाठा पुलिस ने दो अलग अलग मामले में घर से गायब नाबालिग लड़कियों को बरामद किया है। मामले में एक युवक को भी पकड़ा गया है। थाना प्रभारी मनोज नायक ने  दो दिन पहले घर से स्कूल को निकली छात्रा को रायगढ़ स्टेशन से बरामद किया है। जबकि दूसरे मामले में 24 जनवरी को घर से गायब नाबालिग लड़की को सक्ती में पकड़ा गया है। मामले में एक युवक को भी हिरासत में लिया गया है।
 
                                  चकरभाठा थाना प्रभारी ने बताया कि 14 फरवरी को थाना पहुंचकर प्रार्थिया ने रिपोर्ट दर्ज कराया कि आठवी की छात्रा एक दिन पहले घर से स्कूल के लिए निकली। इसके बाद वह घर  नहीं लौटी। पतासाजी के बाद भी नाबालिग की जानकारी नही मिल रही है ।
 
              शिकायत पर आईपीसी की धारा 363 का अपराध दर्ज किया गया। जांच पड़ताल के दौरान पता चला कि नाबालिग छात्रा घटना के दिन स्कूल गयी ही नहीं थी। मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस कप्तान को जानकारी दी गयी।
 
                 थाना प्रभारी मनोज नायक ने बताया कि रिपोर्ट दर्ज किए जाने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर टीम का गठन किया गया। छात्रा के मोबाइल नम्बर को सायबर सेल के हवाले कर सर्विलांस पर डाला गया। इस दौरान मोबाइल को बन्द पाया गया।
 
                    इसी बीच मोबाइल आन होने पर छात्रा का लोकेशन रायगढ़ की तरफ पाया गया। तत्काल टीम ने स्थानीय पुलिस को अवगत कराया। नाबालिग छात्रा को रायगढ़ स्टेशन में कब्जे में लिया गया। थाना प्रभारी मनोज नायक ने बताया बहरहाल नाबालिग छात्रा से पूछताछ की जा रही है। काउन्सलिंग के बाद ही गायब होने की सच्चाई सामने आएगी। 
 
                      सूत्रों की माने तो गायब छात्रा तीन दिन पहले मौसी के साथ किरोड़ीमल में रहने वाले रिश्तेदार के यहां गयी थी। दो दिन बाद चकरभाठा लौटी। पूछताछ के दौरान लड़की ने बताया कि दो एक दिन किरोड़ीमल में और रहना चाहती थी। इसलिए स्कूल के बहाने ट्रेन में बैठकर रायगढ़ चली गयी। इस दौरान उसने मोबाइल भी बन्द कर दिया था।  
 
                                         मनोज नायक ने बताया कि एक अन्य मामले में नाबालिग समेत तथाकथित प्रेमी को सक्ती से गिरफ्तार किया गया है। नाबालिग चकरभाठा थाना क्षेत्र की रहने वाली है। युवक सक्ती का निवासी है। पूछताछ के दौरान सामने आया कि दोनो शादी करना चाहते हैं। बहरहाल मामले को काउन्सलिंग टीम के हवाले किया गया है। जो भी जानकारी होगी सबके सामने रखा जाएगा। उचित कार्रवाई भी होगी।
 
             दोनो मा्मलों की छानबीन और कार्रवाई में सहायक उप निरीक्षक अमृत मिंज,प्रधान आरक्षक सिद्धार्थ पाण्डेय,आरक्षक जितेंद्र जाधव, साइबर सेल उप निरीक्षक सागर पाठक, दीपक यादव का विशेष और अहम योगदान रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *