शिक्षक व आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की हाजिरी पर रहेगी नजर,CM भूपेश बघेल ने अफसरों को दिया सुशासन का मंत्र

कोरिया।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बुधवार सुबह विश्राम गृह कोरिया में अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली।इस दौरान श्री बघेल ने कहा कि अधिकारी विभागीय दौरों के दौरान आम जनता से संवाद बना के रखें।उन्होंने अधिकारियों की प्रशंसा करते हुए कहा कि कल का बहुत अच्छा फीडबैक है। आप सभी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं, ऐसे ही बेहतर कार्य करते रहें।मुख्यमंत्री ने कहा कि राशन कार्ड के प्रकार और पात्रता बताने अवेरनेस कंपेन चलाएं।राशन कार्ड में परिवार के सभी सदस्यों के नाम होना सुनिश्चित करें, कोई भी सदस्य छूटे नहीं।उन्होंने कहा कि विद्युत कनेक्शन जहां सम्भव हो वहां पहुंचाएं।।क्रेडा के अधिकारी सोलर लाइट के कार्य का प्रचार प्रसार करें।मुख्यमंत्री ने कहा कि हाफ बिजली बिल योजना का क्रियान्वयन सौ प्रतिशत सुनिश्चित करें।पात्र व्यक्ति के अस्थायी जाति प्रमाण पत्र को समयसीमा में स्थायी जाति प्रमाण पत्र जारी करें, वैध उत्तराधिकारी को प्रमाण पत्र उपलब्ध कराएं, स्कूल में अभियान चला कर आठवीं के ऊपर के विद्यार्थियों को उपलब्ध कराना सौ प्रतिशत सुनिश्चित करें।

अधिकारियों से चर्चा कर दौरान उन्होंने कहा कि ग्राम सभा को अविवादित नामांतरण बटवारे के अधिकार पहले से हैं, इस विषय मे कोई कन्फ्यूजन नहीं होना चाहिए।वनोपज का बोनस और पारिश्रमिक वितरण त्वरित सुनिश्चित करें, जंगली जानवर हमले में क्षति को मुआवजा के केसेस लंबित न रहें।

बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिए कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, शिक्षकों की उपस्थिति सुनिश्चित करें। जिले में हाट बाजार क्लीनिक का अच्छा कार्य हुआ है। उन्होंने अधिकारियों से हाट बाजार क्लिनिक का व्यापक प्रचार करने की बात कही।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों की आय में वृद्धि होने चाहिए। सभी की आवश्यकता बढ़ रही हैं, इसके लिए शासन कटिबद्ध है।उन्होंने कहा कि कृषि के प्रति रुझान बढ़ा है, रकबा और किसानों की संख्या बढ़ी है, कृषि में लोगों की आय में वृद्धि हो रही है। लघु वनोपज और वनौषधियों से लोगों के आय में वृद्धि होनी चाहिए, वनौषधि प्रसंस्करण केंद्र बनना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारी कर्मचारी शासन तंत्र का अभिन्न हैं। पुरानी पेंशन योजना लागू की ताकि अधिकारियों- कर्मचारियों का भविष्य सुनिश्चित हो। राजस्व अर्जन की दिशा में कार्य होना चाहिए, जुट के कार्य करने की आवश्यकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *