भाजपा महिला संगठन का सरकार पर निशाना..नेत्रियों ने कहा कांग्रेस काल में महिलाओं का जीना हुआ दूभर..अमर समेत दिग्गज नेताओं ने किया समर्थन

बिलासपुर—-भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा ने मातृशक्ति स्वाभिमान के रूप में विकास भवन नेहरू चौक के सामने धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान महिला मोर्चा पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने भूपेश सरकार पर जमकर निशाना साधा। सरकार पर छत्तीसगढ़ को अपराधगढ़ बनाए जाने का आरोप लगाया। भाजपा नेत्रियों ने भाषण के दौरान बताया कि छत्तीसगढ़ में महिला उत्पीड़न के आकंड़ों ने सारे रिकार्ड तोड़ दिए है। धरना प्रदर्शन और भाषणवाजी के बाद सभी महिला नेत्रियां कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर राज्यपाल के नाम ज्ञापन दिया।
 
             धरना प्रदर्शन को अपने संबोधन में राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष हर्षिता पाण्डेय ने कहा कि पिछले 2 सालों  में प्रदेश में  अपराधों का ग्राफ बढ़ा है। जिस तरह से महिलाओं के प्रति अपराध का ग्राफ बढ़ा है..निश्चित रूप से गहन चिंता का विषय है। महिलाओं के उत्पीड़न के मामले में सरकार मौन है। भाजपा शासनकाल के दौरान महिलाओं के हितों को ध्यान में रखते हुए जितनी योजनायें डॉ.रमन सिंह की सरकार ने प्रारंभ की । आज वह सारी योजनाएं बन्द है। भूपेश सरकार के बनने के बाद जनवरी 2019 से दिसम्बर 2020 तक छत्तीसगढ़ राज्य में 5300 से ज्यादा रेप के मामले रिकार्ड हुए हैं। ना जाने कितने मामले रिकार्ड में दर्ज नहीं है। इसका अनुमान भाजपा को अच्छी तरह से है।

                महिला मोर्चा प्रदेश स्थाई आमंत्रित सदस्य आर.विभा राव ने कहा कि प्रदेश सरकार केवल सत्ता सुख का लाभ उठाने में जुटी हुई है। महिलाओं के उत्पीड़न के प्रति सरकार का ध्यान नहीं है। कुछ मंत्री तो ऐसे है जिन्हें अनाचार की घटनांए छोटी लगती है। ऐसे सरकार से क्या उम्मीद की जा सकती है।  सरस्वती योजना अंतर्गत स्कूलों में छात्रों को निःशुल्क सायकल वितरण की योजना बंद हो गगयी है। सरकार शराबबंदी के नाम पर सत्ता में आयी लेकिन शराब की बिक्री अब डोर टू डोर शुरू हो गयी है। आपराधिक घटनाओं में लगातार वृद्धि हुई है।
 
            महिला मोर्चा की प्रदेश स्थाई आमंत्रित सदस्य पूजा विधानी ने कहा कि आज के जिला स्तरीय धरना प्रदर्शन को भरपूर जनसमर्थन मिला है। जब तक कांग्रेस सरकार महिला उत्पीड़न मामलों की उचित जॉच नहीं करती है। तब तक हमारा आंदोलन जारी रहेगा। विधानी ने कहा कि मातृशक्ति अस्मिता के लिए हम सभी एकजूटता के साथ कार्य करेंगे।
 
                       भाजपा महिला मोर्चा की जिलाध्यक्ष जयश्री चौकसे ने कहा कि प्रदेश में महिलाओं के उत्पीड़न के मामले में सरकार मौन है। नारी शक्ति की ऐसी उपेक्षा पहले कहीं भी किसी भी सरकार में देखने को नहीं मिली। महिलाओं के आर्थिक समृद्धि के सभी द्वार बंद कर दिए गए है।
 
      
बताते चलें कि महिला मोर्चा को समर्थन देने पूर्वनिकाय मंत्री अमर अग्रवाल भी धरना स्थल पहुंचे। उन्होने पत्रकारों को बताया कि मात्र दो साल में ही प्रदेश की जनता त्राहि त्राहि करने लगी है। हर तरफ अपराध और अराजकता का बोलबाला है। सरकार सभी मोर्चों पर फिसड्डी साबित हुई है। इस दौरान भाजपा महिला आंदोलन को समर्थन देने प्रदेश भाजपा महामंत्री और जिला अध्यक्ष के अलावा  पूर्व सांसद लखनलाल साहू, भी पहुंचे। 
 
              कार्यक्र्म में महिला नेत्री सुधा गुप्ता, विभा गौरहा, चांदनी भारद्वाज, सुनीता मानिकपुरी, नुरीता कौशिक, नुरी कौशल, भावना शुक्ला, पुनीता डहरिया, पुष्पलता, निधि जैन, प्रतीभा देवांगन, गायत्री साहू, वंदना जेण्ड्रे, गंगा साहू, जया पाण्डेय, नीरा ठाकुर, लक्ष्मी साहू, एल्किना मिरी, प्रभा विश्वकर्मा, सीमा पाण्डेय, रजनी सोनी, निरजा सिन्हा, संध्या चौधरी, रश्मि मौर्य, सविता जायसवाल, रजनी यादव, लोकेश्वरी राठौर, शैल भोई, चंदना गोस्वामी, मध्याबाला टंडन, प्रतिभा मिश्रा, नागेश्वरी साहू, रामप्यारी यादव, सविता नामदेव, रूपाली गुप्ता, अंजनी दुबे, मीना बोले, पुष्पा तिवारी, कंचन दुसेजा, मीना बाई धृतलहरे, अनीता जांगड़े, रीता खांडेकर, गौरी साहू, मंजुला सिंह, सुशीला जांगड़े, शिवानी खांडेकर, सुशीला कौशिक सहित महिला मोर्चा की बहनें उपस्थित थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *