अधिकारी आकांक्षी जिलों के लिए निर्धारित सूचकांकों में तेजी लाने योजनाबद्ध तरीके से कार्य करें-कलेक्टर

नारायणपुर।आगामी गर्मी के मौसम को ध्यान में रखते हुए जिलेवासियों को  शुद्ध पेयजल की आपूर्ति हेतु अब तक संबंधित विभागों द्वारा की गयी तैयरियों की जानकारी आज कलेक्टर श्री धर्मेश कुमार साहू ने समय सीमा की बैठक में ली। उन्होंने कहा कि ऐसे क्षेत्र जहां पेयजल के सीमित साधन हो वहां पर नवीन बोर खनन अथवा खराब हैंडपपांे की मरम्मत शीघ्र करा ली जाये। इसके साथ ही आकांक्षी जिलों के लिए निर्धारित सूचकांकों में सुधार के लिए स्वास्थ्य, शिक्षा, पोषण, रोजगार, बैंकिंग, मूलभूत अधोसंरचना, कौशल विकास आदि क्षेत्रों में निर्धारित मानकों की बारी-बारी से समीक्षा की और जिन मानकों में प्रगति दर कम हैं, उनमें तेजी लाने के निर्देश दिये।

कलेक्टर श्री साहू ने कहा कि प्रदेश के कुछ जिलो में कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। इसलिए जरूरी है कि सर्व संबंधित अधिकारी पूरी तैयारी कर लें और शासन द्वारा पूर्व में जारी गाइड लाईन पालन करें। उन्होंने पॉजिटिव पाये गये व्यक्तियों की कांटेक्ट ट्रेसिंग करें। इसके साथ ही कोराना जांच के लक्ष्य पूरा करें।

बैठक वनमंडलाधिकारी एन.आर.खुंटे, एसडीएम दिनेश कुमार नाग, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक नीरज चंद्राकर, संयुक्त कलेक्टर सुश्री निधी साहू, डिप्टी कलेक्टर वैभव क्षेत्रज्ञ, गौरी शंकर नाग, धनराज मरकाम, फागेश सिन्हा, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ए.आर.गोटा के अलावा अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।कलेक्टर श्री साहू ने कहा शासन की योजनाओं का लाभ लेने के लिए आधार पंजीयन होना आवश्यक है। इसलिए जिले के अंदरूनी क्षेत्रों में आधार कार्ड पंजीयन शिविर लगाये जा रहे हैं।

इस कार्य के लिए क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों और गा्रम पंचायत सचिवों आदि का सहयोग लें और लोगों को प्रेरित करें। उन्होंने जिले में बनाये जा रहे आयुष्मान कार्ड, जाति प्रमाण पत्र आदि की जानकारी ली। कलेक्टर ने राज्य शासन की महत्वाकांक्षी नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी योजना तथा पशु धन के संरक्षण और संर्वधन के किये जा रहे कार्यों की विस्तृत समीक्षा की और संबंधित अधिकारियों को आत्मनिर्भर गौठान के लिए कार्ययोजना बनाकर प्रस्तुत करने कहा।

बैठक में उन्होने विभिन्न मदों से स्वीकृत, निर्मित और अपूर्ण निर्माण कार्याे के संबंध में जानकारी ली की और अपूर्ण निर्माण कार्याे को यथा शीघ्र पूरा करने के लिए संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये। कलेक्टर ने अधिकारियों से कहा कि निर्माण कार्याे में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखे। समय सीमा की बैठक में पंचायत एवं ग्रामीण विकास, शिक्षा, बिजली, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, आदिवासी विकास, खाद्य, राजस्व, भू-अभिलेख, पशुपालन आदि विभागों के समय सीमा के प्रकरणों की बारी-बारी से जानकारी ली और आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *