जिला व सत्र न्यायालय में मनाया गया योग दिवस, मानसिक व शारीरिक विकास के लिए योग एक महत्वपूर्ण प्रयास-अग्रवाल

बिलासपुर।जिला एवं सत्र न्यायालय / जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष राधाकिशन अग्रवाल के नेतृत्व में 21 जून को प्रात:जिला न्यायालय परिसर में अंतराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आयुष मंत्रालय की ओर से निर्गत प्रोटोकाल का अनुपालन करते हुए योग दिवस मनाया गया ।इसमें बार एसोसिएशन के सदस्य, पैनल अधिवक्ता एवं न्यायिक कर्मचारियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। कार्यक्रम में योग प्रशिक्षक के रुप में स्थायी लोक अदालत के अध्यक्ष पंकज जैन रहे। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष राधाकिशन अग्रवाल ने कहा कि भारतीय संस्कृति की वैदिक परंपरा को जीवंत करते हुए मानव शरीर के मानसिक एवं शारीरिक विकास के लिए योग एक महत्वपूर्ण प्रयास है।

उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा योग की महत्ता हमारे जीवन स्तर एवं हमारे मानसिक अवस्था को संबल प्रदान करने वाली है। हमारे मन एवं मस्तिष्क को योग से स्थिरता, एकाग्रता एवं मानसिक दृढ़ता प्राप्त होती है। जो वर्तमान समय में अत्यंत आवश्यक है। हमारी मानसिक मजबूती वर्तमान समय की आवश्यकता है। उक्त कार्यक्रम में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश, सुश्री संघरत्ना भतपहरी, उषा गेदले, शहाबुद्दीन कुरैशी, विवेक तिवारी, सुश्री स्मिता रत्नावत, अशोक लाल, सुमित कपुर, श्री अविनाश त्रिपाठी, मुख्य न्यायिक नययधीश मनीष दुबे, न्यायाधीश डॉ० सुमित सोनी, कु० रुचिता अग्रवाल निक्सोन डेविड लकड़ा, श्री गिरिशपॉल सिंह, न्यायालय अधीक्षक जितेन्द्र नामपल्लीवार, न्यायालय प्रबंधक डॉ0 विनोद कुमार भास्कर, जिला नाजिर श्री भागवत, तृतीय श्रेणी कर्मचारी संघ के अध्यक्ष श्री धीरज पलेरिया आदि की उपस्थिती भी सराहनीय रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *