VIDEO-कांग्रेस भवन के बाहर युवा कांग्रेसियों में जमकर मारपीट..अन्दर प्रभारी लेते रहे बैठक.. मौके पर पहुंची पुलिस.विवाद के बाद लटका ताला

बिलासपुर– दोपहर बाद कांग्रेस भवन में प्रभारी बनने के बाद अखिलेश देवांगन बिलासपुर पहुंचे। जिलास्तरीय युवा टीम की बैठक में युवाओं ने गरमागरम अंदाज में अपनी बातों को प्रभारी के सामने रखा।  इसका असर कांग्रेस कार्यालय के बाहर देखने को मिला। कार्यालय के बाहर दो गुटों में पहले जमकर बहस फिर मारपीट हुई। मारपीट की खबर के बाद कांग्रेस भवन का मुख्य दरवाजा पर ताला लटका दिया। खबर मिलते ही सिटी कोतवाली पुलिस की पेट्रिलिंग पार्टी पहुंची। लेकिन शांत नजारा देखकर लौट गयी। 
 
                    कांग्रेस भवन के बाहर आपसी विवाद में दो गुटों के बीच जमकर मारपीट हुई। बताया जा रहा है कि मारपीट की असली वजह तो फिलहाल स्पष्ट रूप से सामने नहीं आयी है। बताया जा रहा है  कि मारपीट की असली वजह दो गुटों के बीच पुराना विवाद है। एक वजह बैठक के दौारन गरमागरम बहस को भी बताया जा रहा है।
 
    बताते चलें कि दोपहर बाद यूथ कांग्रेस प्रभारी बनने के बाद अखिलेश देवांगन पहली बार बिलासपुर पहुंचे। देवांगन का यूथ नेताओं ने आतिशी स्वागत किया। इसके बाद कांग्रेस कार्यालय पहुंचकर अखिलेश देवांगन ने युवा टीम की जिलास्तरीय बैठक में शिरकत किया। बैठक के दौरान युवाओं के बीच जमकर बहस हुई।  इसका असर कांग्रेस कार्यालय के बाहर देखने को मिला। 
 
            जब कार्यालय में प्रदेश महासचिव अखिलेश देवांगन बैठक ले रहे थे। ठीक उसी समय बाहर युवा कांग्रेसी जमकर एक दूसरे पर लात घुसा चलाते पाए गए। इस दौरान दो गुटों के बीच जमकर गाली गलौच भी हुई। दोनो गुट यकायक एक दूसरे पर टूट गए। इस दौरान युवा कांग्रेसी पत्रकारों को  हड़काते हुए कैमरा बन्द करने को कहा। 
 
            कांग्रेस कार्यालय के बाहर अचानक मारपीट की जानकारी पुलिस तक पहुंची। आनन फानन में सिटी कोतवाली पेट्रोलिंग पार्टी पहुंच गयी। पुलिस की खबर लगते ही सभी युवा कांग्रेसी फरार हो गए। बैठक के बाद अखिलेश देवांगन ने मारपीट और गाली गलौच की खबर से इंकार किया। उन्होने बताया कि फिलहाल इसकी जानकारी उन्हें नहीं है। यदि ऐसा हुआ है तो टीम मामले की जांच करेगी। अनुशासनहीनता को बर्दास्त नहीं किया जाएगा।
 
          बताया जा रहा है कि दोनो गुट गोंडपारा और मंगला क्षेत्र से हैं। दोनों के बीच पहले से ही विवाद चल रहा था। बैठक के दौरान दोनो गुट के युवा नेताओं का जैसे ही आमना सामना हआ। दोनों गुट एक दूसरे पर टूट पड़े। हालांकि इस दौरान कोई गंभीर रूप से घायल नहीं हुआ। लेकिन विवाद की खबर के बाद कांग्रेस भवन के गेट पर बड़ा सा ताला जरूर लटका दिया। इस घटना के बाद लोगों को टिकट वितरण के दौरान हुए हंगामे की याद आ गयी। साथ ही लोगों ने लाठीचार्ज की घटना को भी याद किया।

Tags:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *