सहायक प्राध्यापक परीक्षा में गड़बड़ी.. PSC से आवेदक की शिकायत..लिखित परीक्षा दिया नहीं..साक्षात्कार का बुलावा

बिलासपुर— राज्य लोकसेवा आयोग जो करे..वह थोड़ा। सहायक प्राध्यापक परीक्षा में कुछ ऐसी शिकायत सामने आयी है। जिसकी कल्पना शायद ही कोई करे। आवेदक ने राज्य लोकसेवा आयोग को किए गए शिकायत में बताया है। एक प्रतियोगी लिखित परीक्षा में शामिल नहीं हुआ। बावजूद इसके उसका नाम और रोल नम्बर साक्षात्कार सूची में शामिल किया गया है। वहीं आयोग अब जांच की बात कर रहा है।

               जानकारी हो कि 5 नवम्बर 2020 को राज्य में एक साथ कई केन्द्रों में अलग अलग विषयों में सहायक प्राध्यापक परीक्षा का आयोजन किया गया। सहायक प्राध्यापक 2019 परीक्षा का आयोजन राज्य लोक सेवा के माध्यम से किया गया। परीक्षा हजारों प्रतियोगी शामिल हुए। अब परीक्षा परिणाम भी आ गया है। और साक्षात्कार सूची का भी प्रकाशन राज्य लोक सेवा आयोग ने जारी कर दिया है। 

                   राज्य लोक सेवा आयोग की तरफ से जारी सूची में नया पेंच आ गया है। सूची जारी होने के बाद वीरेन्द्र पटेल नामक एक प्रतियोगी परीक्षा के बाद जारी साक्षात्कार सूची में धांधली की शिकायत की है। 

              लोक सेवा आयोग को लिखे  शिकायत पत्र में वीरेन्द्र पटेल ने बताया कि 5 नवम्बर 2020 को आयोजित सहायक प्राध्यापक परीक्षा 2019 में शामिल हुआ। उसने हायर सेकेन्डरी स्कूल अमलीडीह रायपुर केन्द्र क्रमांक 3004 और कक्ष क्रमांक 13 में हिन्दी साहित्य की लिखित परीक्षा दिया। उसका रोल नम्बर 19020410691 है। जबकि पीछे वाले प्रतियोगी का रोल नम्बर 190204103693 है। उसका भी विषय हिन्दी साहित्य था। लेकिन वह परीक्षा में शामिल नहीं हुआ।             

               अपनी शिकायत पत्र में वीरेन्द्र ने लोकसेवा आयोग को बताया कि लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण प्रतियोगियों का अनुक्रमांक साक्षात्कार के लिए जारी किया  है। यह जानते हुए भी कि उसके पीछे का प्रतियोगी परीक्षा में शामिल नही हुआ। बावजूद इसके उसका नाम और अनुक्रमांक साक्षात्कार सूची में शामिल किया गया है। इससे जाहिर होता है कि परीक्षा में भारी धांधली हुई है। इसलिए मामले की जांच करायी जाए। साथ ही वस्तुस्थिति को स्पष्ट किया जाए। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *