पंचायत प्रतिनिधियों का हड़ताल को समर्थन…धरना स्थल पहुंचे नेता…कहा शिक्षाकर्मियों से सौतेला व्यवहार

BHASKAR MISHRA
2 Min Read

IMG20171127135855बिलासपुर— शिक्षाकर्मियों की बेमियादी हड़ताल को हौसला देने सोमवार को बिल्हा जनपद पंचायत अध्यक्ष गीतांजली कौशिक नेहरू चौक स्थित धरना प्रदर्शन स्थल पहुंची। गीतांजली कौशिक और कांग्रेस नेता मनहरण कौशिक ने शिक्षाकर्मियों की मांग का समर्थन किया। गीतांजली ने बताया कि शोषण की भी हद होती है। सरकार शिक्षाकर्मियों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार सभी शिक्षाकर्मी समान कार्य समान वेतनमान की योग्यता रखते हैं।

                    शिक्षाकर्मियों की बेमियादी हड़ताल को समर्थन देने आज तिफरा नगरपालिका और बिल्हा जनपद पंचायत जनप्रतिधि पहुंचे। गीतांजली कौशिक ने शिक्षाकर्मियों की बेमियादी हड़ताल का समर्थन किया। गीतांजली ने बताया कि वादा से मुकरना सरकार की आदत है। चाहे किसानों के साथ हो या शिक्षाकर्मियों के साथ। हर जगह धोखाबाजी की खेल हो रहा है। गीतांजलि ने कहा शिक्षाकर्मियों की संविलियन मांंग जायज है। सातवां वेतनमान पर उनका हक बनता है। खुली स्थानांतरण नीति नहीं होने से शिक्षाकर्मियों का बन्द कमरे में खुलेआम शोषण हो रहा है। बड़े नेता और अधिकारी एनओसी देने के नाम पर दुकान सजाकर बैठे हैं।

                                         कार्यक्रम को कांग्रेस नेता मनहरण कौशिक ने भी संबोधित किया। मनहरण ने बताया कि कांग्रेस पार्टी शिक्षाकर्मियों की मांगों का समर्थन करती है। व्यक्तिगत रूप से मैं भी शिक्षाकर्मियों के साथ हूं।

          शिक्षाकर्मियों की हड़ताल को बिल्हा जनपद पंचायत सदस्य ओमप्रकाश कोशले और निशा कश्यप ने भी समर्थन किया। कार्यक्रम में तिफरा नगर पालिका के सदस्य मढंरिया ने भी भाषणवाजी की। सभी जनप्रतिनिधियों ने शिक्षाकर्मियों की मांग को जायज बताया।

Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close