पुलिस के हाथ चढ़ा शातिर ठग…खुद को बताता था विधायक

राजस्थान (Rajasthan) की पाली पुलिस (pali police) ने गुजरात पुलिस के साथ मिलकर एक बड़े ऑपरेशन को अंजाम दिया है. पाली पुलिस की इस कार्रवाई में एक शातिर ठग (thug) को पकड़ा गया है. बताया जा रहा है कि ठग पिछले 10 सालों से ऐसी घटनाओं में शामिल था. वहीं ठग के खिलाफ देशभर के 21 शहरों में 60 से ज्यादा ठगी के मामले दर्ज हैं. इसके अलावा किसी को ठगने के लिए खुद का परिचय विधायक के रूप में देता था. पुलिस के मुताबिक ठग की पहचान 33 वर्षीय सुरेश उर्फ भैर्या के रूप में की गई है. टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के मुताबिक ठग हर बार नए नंबरों से फोन करके लोगों को अपने जाल में फंसाता था. पुलिस ने बताया कि वह लोगों से अस्पताल, शॉपिंग के लिए पैसे की मांग करता था.

बता दें कि ठग धोखाधड़ी के मामलों में अब तक 60 से बार गिरफ्तार भी हो चुका है और अभी तक जोधपुर में 17, नागौर में 3, कोटा में 2, मारवाड़ा में 2, बीकानेर में 2, इंदौर में 1, सांचौर में 2 और बीकानेर और गंगानगर में भी कई ठगी की वारदातों को अंजाम दे चुका है.

विधायक बन देता था ठगी को अंजाम

पुलिस ने बताया कि ठग अक्सर खुद का परिचय पाली के विधायक के रूप में लोगों को देता था. इसके बाद वह किसी भी नंबर से मेडिकल इमरजेंसी या कोई अन्य कारण देकर पैसे ट्रांसफर करवा लेता था. वहीं कई वारदातों में उसने किसी बड़ी बिजनेस फैमिली का सदस्य और कभी जज या अन्य अधिकारी का निजी बताकर ठगी की है. इसके अलावा दुकानों और शोरूम में वह विधायक का रौब झाड़कर मुफ्त में सामान भी लेता था.

पाली और गुजरात पुलिस ने पकड़ा

पुलिस ने बताया कि ठग को पकड़ने के लिए पाली और गुजरात पुलिस की ओर से एक साझा ऑपरेशन चलाया गया. पुलिस के मुताबिक बीते दिनों ठग के गुजरात के एक व्यापारी दीपक चौकी को फोन करने के बाद उसने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई थी. वहीं इसके बाद गुजरात पुलिस ने पाली पुलिस को ठग के बारे में जानकारी दी.पाली पुलिस ने फिर सर्विलांस की मदद से ठग की रैकी की तो सामने आया कि वह पाली रेलवे स्टेशन के आसपास किसी इलाके में है. इसके बाद पाली पुलिस ने शनिवार शाम को उसे गिरफ्तार कर गुजरात पुलिस को सौंप दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *