बॉर्डर पर संन्यासियों का अनशन जारी, इन्हें जेड सिक्योरिटी दिलवाने की मांग

Shri Mi
2 Min Read

गाजियाबाद।गाजियाबाद के डासना मंदिर के महामंडलेश्वर यति नरसिंहानंद के लिए जेड सिक्योरिटी की मांग को लेकर हरिद्वार से कुछ संत गृहमंत्री अमित शाह से मिलने दिल्ली जा रहे थे, जिन्हें मंगलवार दोपहर गाजियाबाद बॉर्डर पर रोक लिया गया। जिसके बाद वह वहीं अनशन पर बैठे हैं और अपनी मांग पर अड़े हुए हैं।

गाजियाबाद में यूपी बॉर्डर पर रोके गए यति संन्यासियों ने अनशन शुरू कर दिया।

अनशन मंगलवार दोपहर से अब तक जारी है। यति संन्यासी पूरी रात खुले आसमान के नीचे सड़क पर बैठे रहे। इस बीच निरंजनी अखाड़े की महामंडलेश्वर अन्नपूर्णा भारती ने जेड सुरक्षा नहीं मिलने की स्थिति में आत्मदाह तक करने की चेतावनी दे डाली है।

दरअसल, ये पदयात्रा करते हुए गृहमंत्री अमित शाह के आवास पर जा रहे थे। दिल्ली पुलिस ने इन्हें यूपी बॉर्डर पर रोक दिया था। गाजियाबाद में डासना देवी मंदिर है। इसके पीठाधीश्वर यति नरसिंहानंद गिरि हैं, जो श्रीपंच दशनाम जूना अखाड़ा के महामंडलेश्वर भी हैं।

महामंडलेश्वर को कई बार आतंकियों से धमकियां मिल चुकी हैं। यति संन्यासी चाहते हैं कि उनके गुरु यति नरसिंहानंद गिरि को केंद्र सरकार जेड श्रेणी की सुरक्षा प्रदान करे। इस मांग को लेकर यति संन्यासियों ने 25 दिसंबर को हरिद्वार में हर की पैड़ी से पदयात्रा शुरू की थी। पदयात्रा 2 जनवरी को गाजियाबाद से दिल्ली की तरफ बढ़ रही थी।

गाजियाबाद-दिल्ली बॉर्डर (गाजीपुर) पर दिल्ली पुलिस ने पदयात्रा को रोक दिया। इसके खिलाफ यति संन्यासी यूपी बॉर्डर पर ही अनशन पर बैठ गए हैं। बुधवार को भी अनशन जारी रहा।

close