कांग्रेस नेताओं ने कहा..बुलेट ट्रेन से ज्यादा जरूरी रोजगार..भत्ता कटौती पर जताया आक्रोश..कहा..VIP पर प्रति किलोमीटर होगा 200 करोड़ खर्च

बिलासपुर—-छात्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस विधी विभाग प्रदेश अध्यक्ष संदीप  दुबे और कांग्रेसियों ने केन्द्र सरकार की बुलेट ट्रेन परियोजन का देश के लिए गैर जरूरी बताया है। 500 किलोमीटर लम्बी  रेल लाइन में 1 लाख करोड़ का खर्च होगा।  वर्तमान परिस्थिति में इस परियोजना को बन्द किया जाना उचित होगा। क्योंकि देश भयंकर बुरी आर्थिक परिस्थितियों से गुजर रहा है। 
 
        प्रदेश कांग्रेस विधि प्रकोष्ठ अध्यक्ष संदीप दुबे और विभाग के प्रवक्ता सुशोभित सिंह ने संयुक्त प्रेस नोट जारी कर प्रस्तावित  बुलेट ट्रेंन परियोजना को बन्द किए जाने की मांग की है। दोनों नेताओं ने कहा कि योजना भारत जैसे देश के लिए जरूरत ज्यादा खर्चिली  है। वर्तमान परिस्थितियों में योजना को बन्द किया जाना ही उचित होगा। 
 
          संदीप और सुशोभित ने बताया कि परियोजना के तहत मुंबई से अहमदाबाद  के बीच 500 किलोमिटर लम्बी रेल पटरी बिछाई जानी है। परियोजना में 1 लाख करोड का व्यय होगा। यानि प्रति किलोमिटर 200 करोड का व्यय प्रस्तावित है। परियोजना मे उच्च गती  से चलने वाले ट्रेंन चालाना  प्रस्तावित है  यह गति 300 किलोमिटर प्रति घंटा होगी।
 
                 वर्तमान परिस्थिति मे जब  पूरा देश एक गंभीर  माहामारी  से जूझ रहा हो। इस परियोजना को बन्द किया जाना उचित होगा। देश भयंकर आपतकाल के दौर से गुजर रहा है। सरकार ने सांसद निधी  मे कटौती वाला प्रस्ताव लाया है। कोरोना काल में लाखो लोग बेरोजगार  हो गए हैं। ऐसे  समय देश के पास  उपलब्ध  संसाधानो का मितव्ययिता से उपयोग किया जाना जरूरी है। .भारत  सरकार ने इस विपदा मे धन जुटाने  के लिए शासकीय कर्मचारियो की महंगाई भत्ते मे की गयी  4 प्रतिशत की बढोतरी को भी दिया है। ऐसी परिस्थिति मे बुलेट ट्रेंन  परियोजना जैसी  खर्चिली  परियोजना पर  तात्काल रोक लगाई  जाए। 
 
        संदीप और सुशोभित ने प्रेस नोट जारी कर बताया है कि बुलेट ट्रेंन परियोजना से सीमित क्षेत्र के केवल कुछ उच्च वर्ग के विशिष्ट  लोगो  को ही लाभ होगा। परियोजना से बची हुई राशी को प्रवासी  माजदूरो  के कल्याण मे व्यय किया जाए तो बेहतर होगा। बेरोजगारों के लिए रोजगार सृजन किया जाना बहुत जरूरी है। नए रोजगार सृजन करने वाले लघू  मध्यम एवम छोटे  उद्योग का वित्त पोषण किया जाए। ऐसा करने से लाखो प्रवासी मजदूरो  की आर्थिक संकट को दूर किया जा  सकता है।
            .
              संदीप ने बताया कि भारत सरकार ने अति उन्नत ,सर्व सुविधा  युक्त वीआईपी हवाई जहाज जो केवल राष्ट्रपति और  प्रधानमंत्री के उड़ने के लिए  काम  आयेगा को क्रय करने की योजना को स्वीकृती दी है। अमेरिकी कांपनी  बोइंग से निर्मित यह  हवाई जहाज 8500 करोड रूपये  मे क्रय किया जाना  है। हवाई जहाज जल्द ही  सरकार को मिलने वाली है।
 
                   भारतीय बैंको ने  पिछले वर्ष मे कुछ लोगो का 68000 करोड का ऋण बट्टे खाते में डाल दिया गया है। मतलब इस  ऋण अब कभी भी वसूल नही  किया जा सकता है। बैंक ने कुछ  उद्योगपति का 68000 करोड का ऋण बट्टे खाते में डाल दिया है। पीएम केयर फंड  में इस समय 6600 करोड की राशी जमा हो चुकी है। इस राशी से श्रमिको  की घर वापसी  के लिए विशेष ट्रेन चलायी जाए। लघु  मध्यम उद्योग का वित्त पोषण किया जाए। जिससे ज्यादा से ज्यादा  रोजगार का सृजन हो सके।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *