थानेदार साहब गायब हो गयी विकास की चीड़िया..कांग्रेसियों ने कहा रपट लिखो…प्रभारी ने कहा 15 दिन देंगे जवाब

बिलासपुर— जिला कांग्रेस कमेटी और पार्षदों ने आज सिटी कोतवाली का घेराव किया। सरकार और मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। थाना पहुंचकर विकास नाम की चिडिया गायब होने की शिकायत की। कांग्रेस नेताओं ने अलग अलग आवेदन देकर थाना प्रभारी को बताया कि मुख्यमंत्री ने कहा था कि कांग्रेस विकास की चीड़िया देख सकती है। लगातार तलाश के बाद भी कहीं पर विकास की चीडिया नहीं मिली। जल्द ही उसकी तलाश की जाए। थाना प्रभारी ने दबाव में कांग्रेस नेताओं की लिखित शिकायत को लिया। आश्वासन दिया कि एक सप्ताह के भीतर सूचना दी जाएगी।

                        कांंग्रेस नेताओं ने आज सिटी कोतवाली थाना पहुंचकर लिखित शिकायत की है कि विकास की चीड़िया ढूंठने के बाद भी नहीं मिली है। मुख्यमंत्री ने कहा था कि कांग्रेसी चाहें तो प्रदेश में कही भी विकास की चीड़िया तलाश सकते हैं। हर जगह विकास ही विकास नजर आएगा। कांग्रेस नेताओं ने थाना प्रभारी को लिखित शिकायत कर बताया कि बहुत तलाश के बाद भी विकास की चीडि़या कहीं नजर नहीं आयी। कांग्रेस नेताओं ने अलग अलग आवेदन देकर विकास की चीड़िया तलाश करने को कहा। थाना प्रभारी ने भी आश्वासन दिया कि पन्द्रह दिनों के अन्दर मामले की जानकारी दी जाएगी।

         शिकायत के पहले कांग्रेस नेताओं ने सरकार और मुख्यमंत्री के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस दौरान अटल श्रीवास्तव,नरेन्द्र बोलर,अरूण तिवारी और शैलेश पाण्डेय ने बताया कि हम लोगों ने शहर वासियों के साथ विकास की चीडि़या की तलाश की लेकिन कहीं नजर नहीं आया। शहर की सड़के खोद खोदकर लोग विकास की चीडिया तलाश करते मिले। उन्होने भी बताया कि जल्द ही सड़क का काम पूरा हो जाएगा। जबकि ऐसा पिछले डेढ़ दशक कहा जा रहा है। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि हरे भरे बिलासपुर को रेगीस्तान बना दिया गया है। शहरवासियों मेंं पेयजल को लेकर हााहाकार है। कई साल से लोग अरपा को टेम्स बनने का इंतजार कर रहे हैं। ग्रीनलैण्ड की जमीन माफियों ने कब्जे में है। सरकार ने शराब बेचना शुरू कर दिया है। यदि यही विकास है तो भाजपा सरकार को मुबारक।

                            जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी, नगर निगम नेता प्रतिपक्ष  शेख नजरूद्दीन, पार्षद दल प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल,तैय्यब हुसैन, अखिलेश बावजपेयी समेत अन्य कांग्रेसियों ने बताया कि भाजपा और निगम सरकार की हठधर्मिता के कारण सफाई कर्मचारी परेशान हैं। प्रदेश और शहर की कानून व्यवस्था चौपट हो गयी है। अधिकारी विकास की चीड़िया तलाश रहे हैं। पुलिस के संरक्षण में अपराध को बढ़ावा मिल रहा है। कोयला माफियों ने जीना मुश्किल कर दिया है। भ्रष्टाचार चरम पर हैं। शायद मुख्यमंत्री ने इन सबको ही विकास की चीड़िया कह रहे हैं। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि जनता विकास की चीड़िया को तो नहीं तलाश पायी। लेकिन इतना तय है कि भाजपा सरकार के लिए बनवास का रास्ता बना दिया है। चुनाव के बाद उसी रास्ते से भाजपा सरकार के मंत्री विकास की चीड़िया जंगल में तलाश करने निकलेंगे। लेकिन जंगल में आदिवासी बाई बहनों को भाजपा सरकार के मंत्रियों को जवाब देना होगा कि उनके अधिकार को पूंंजीपतियों के हाथ में क्यों बेचा गया।

                  सिटी कोतवाली में शिकायत करने के दौरान महेश दुबे पंचराम सूर्यवंशी रमाशंकर बघेल तरू तिवारी समेत प्रमुख नेताओं के अलावा अरविन्द शुक्ला,आदित्य दुबे.जावेद मेमन,मौजूद थे।

विकास भवन में प्रदर्शन

                 सिटी कोतवाली शिकायत करने से पहले कांग्रेेस नेता और पार्षदों ने विकास भवन के सामने धरना प्रदर्शन किया। बारी बारी से कांग्रेस नेताओं ने धरना कर सफाई कर्मचारियों को नियमित करने की मांग की। एसपी चतुर्वेदी अरूण तिवारी,शेख नजरूद्दीन, शैलेश पाण्डेय और शैलेन्द्र जायवाल समेत अखिलेश वाजपेयी ने कहा कि जब तक सफाई कर्मचारियों को नियमित नहीं किया जाता है। कांग्रेसी धरना प्रदर्शन करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *