प्रतिभा ग्वाल ने मांगी कार्रवाई की कापी

high_court_visualबिलासपुर— सुकमा जिले के बर्खास्त जज प्रभाकर ग्वाल की पत्नी दूसरे दिन मौन धरना दिया। पति खिलाफ लगाए गए आरोप और बर्खास्तगी का विरोध किया। प्रतीभा ग्वाल के मौन धरना प्रदर्शन को आम आदमी पार्टी ने भी समर्थन दिया।

                      बर्खास्त जज प्रभाकर ग्वाल की पत्नी प्रतिभा ग्वाल ने पति के खिलाफ शासन और प्रशासन पर साजिश का आरोप लगाया है। प्रतिभा ग्वाल के अनुसार बर्खास्त जज प्रभाकर ग्वाल को जानबूझकर प्रताडित किया गया है। इसके लिए छत्तीगढ़ शासन और न्यायालय प्रशासन जिम्मेदार है। प्रतिभा ग्वाल के अनुसार मुझे परिवार के लिए न्याय चाहिए । इसलिए तीन दिनों तक मैने नेहरू चौक में सार्वजनिक रूप से मौन धरना दिया है। मौन धरना प्रदर्शन का समर्थन बर्खास्त जज प्रभाकर ग्वाल ने भी किया। उन्होे बताया कि प्रतिभा के मौन धरना प्रदर्शन को जनता का सहयोग मिल रहा । आम आदमी पार्टी के सहयोग से हमें हौसला मिला है।

                      धरना प्रदर्शन के दूसरे दिन प्रतिभा ग्वाल सूर्य उदय के साथ नेहरू चौक पहुंची। दोपहर होते आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता ने धरना स्थल पहुंचकर व्यवस्था के खिलाफ ग्वाल का समर्थन किया।  प्रतिभा ग्वाल की तरह आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने पूरे समय मौन धारण किया। दोपहर को बर्खास्त जज प्रभाकर ग्वाल भी प्रर्दशन में शामिल हुए।

                                                  मालूम हो प्रतिभा च्वाल पति प्रभाकर ग्वाल के विरूद्ध हाईकोर्ट की कार्रवाई को सोची समझी साजिश बताया है। प्रतिभा ग्वाल 11 अप्रैल से मौन धरना प्रदर्शन कर रही है। एलान के अनुसार 13 फरवरी को मौन धरना प्रदर्शन का अंतिम दिन होगा। प्रतिभा ग्वाल ने मौन धरना प्रदर्शन करने से पहले पत्रकारों को बताया था कि कोर्ट से कार्रवाई की सभी दस्तावेज चाहिए। लेकिन कोर्ट देने को तैयार नही हैं। पतिभा ने शासन से मामले में फिर से स्थानीय किए जाने की मांग की है। लेकिन सुनवाई स्थानीय जज नहीं किये जाने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *