प्रशासन की धमकी को किया नजरअंदाज

IMG20170418155423बिलासपुर–अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बैठे अल्टरनेटिव चिकित्सकों को एसडीएम ने हड़ताल खत्म कर जगह खाली करने को कहा है। लेकिन अल्टरनेटिव चिकित्सकों ने प्रशासन की धमकी को नजरअंदाज कर नेहरू चौक स्थित धरनास्थल को छोड़ने से इंकार कर दिया है। प्रशासन से धमकी की खबर मिलने के बाद  जनता कांग्रेस नेताओं ने अल्टरनेटिव चिकित्सकों का साथ देते हुए कहा कि जब तक मांग पूरी नहीं होती है धरने से हटने का सवाल ही नहीं उठता है।

                             अल्टरनेटिव चिकित्सक पिछले कई दिनों से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर है। नेहरू चौक पर धरना प्रदर्शन कर अल्टरनेटिव चिकिस्ता को नर्सिंग होम एक्ट में शामिल करने की मांग कर रहे हैं। अल्टरनेटिव चिकित्सकों ने बताया कि जब तक उनके खिलाफ प्रशासनिक अत्याचार बंद नहीं होता तब तक धरना प्रदर्शन करते रहेंगे।

                     इस बीच अल्टरनेटिव चिकित्सकों ने आरोप लगाते हुए कहा है कि जिला प्रशासन अल्टरनेटिव चिकित्सकों से घबरा गया है। संघ के पदाधिकारी डॉ नफीस खान और अन्य लोगों ने बताया कि एसडीएम आलोक पांडेय ने धमकी दी है कि तीन बजे तक हड़ताल खत्म नहीं होने पर पंडाल को उखाड़कर फेंक दिया जाएगा। लेकिन हमने एसडीएम के बातों को दरकिनार करते हुए मांग पूरी नहीं होने तक हड़ताल का फैसला किया है।

जनता कांग्रेस का समर्थन

                     जिला प्रशासन की धमकी के बाद जनता कांग्रेस नेता सैयद निहाल ने धरना स्थल पहुंचकर अल्टरनेटिव चिकित्सकों का समर्थन किया। निहाल ने बताया कि प्रशासन को किसी भी सूरत में जबरदस्ती नहीं करने दिया जाएगा। अल्टरनेटिव चिकित्सक लोकतांत्रिक तरीके से हक की लड़ाई लड़ रहे हैं। यदि पुलिस कार्रवाई होती है तो जनता कांग्रेस इसका विरोध करेगी।

क्लिनिकों पर कार्रवाई

                  मालूम हो कि जिला स्वास्थ्य विभाग ने कार्रवाई करते हुए शहर के कमोबेश सभी अल्टरनेटिव क्लिनिकों पर ताला जड़ दिया है। इसके विरोध में अल्टरनेटिव चिकित्सक 17 अप्रैल से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर हैं। अल्टरनेटिव चिकित्सकों ने स्वास्थ्य विभाग की कार्रवाई को असंवैधानिक बताते हुए नर्सिंग होम एक्ट में शामिल करने की मांग कर रहे हैं। मामले में हाईकोर्ट में याचिका लगाए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *