बैंकरों ने कहा…बैंक कभी नहीं पूछता पासवर्ड…बैंकर क्लब समन्वयक ने बताया..नगदी की कोई कमी नहीं

बिलासपुर— बैंकर्स क्लब की बैठक में बैंको की नकारात्मक खबरों पर चिंता जाहिर की गयी है। सदस्यों ने मंथन के दौरान बताया कि बिलासपुर में बैंकिंग सिस्टम काफी बेहतर है। साथ ही सदस्यों ने कहा कि खाताधारकों तक बात पहुचाना जरूरी है कि अफवाहों पर ध्यान ना दें। बैठक का आयोजन स्टेट बैंक डीजीएम अनुराग मित्तल की अध्यक्षता मे केनरा बैंक, क्षेत्रिय कार्यालय, रामा पोर्ट में हुई।

                             बैंकर्स क्लब के सदस्यों ने एक बैठक के दौरान जनता के बीच नकारात्मक खबरों को लेकर  चिंता  जाहिर की है। बैंकरों ने मंथन के दौारन बताया कि बिलासपुर में बैंकिंग सिस्टम काफी बेहतर हैं। सुरक्षा की दृष्टि से प्रत्येक एटीएम और शाखा में औसत आहरण के अनुरूप ही नगदी डंप की जाती हैं। जब कभी अचानक मांग आपूर्ति से काफी अधिक हो जाती हैं तो बैंकों को व्यवस्था करने में थोड़ा बहुत समय लगता हैं। बावजूद इसके व्यवस्था को तत्काल ठीक भी कर लिया जाता है।

                          बैंकरों ने चर्चा के दौरान बताया कि पिछले दिनों 2000 के नोटो की अधिकता से लोगो मे चिल्हर की कमी महसूस की गयी। परेशानियों को देखते हुे एटीएम को छोटे नोट के अनुरूप रिकेलिब्रेट कराया गया। हो सकता है कि कभी कभी दो एक एटीएम तकनीकि कारणों डाउन हो जाता हो। लेकिन बैंक अधिकारियों की नजर हमेशा परेशानियों  पर रहती है। यथा संभव समस्याओं को तत्काल दूर करने का प्रयास भी किया जाता है।

                                           बैंकर्स क्लब समन्वयक ललित अग्रवाल ने बताया कि प्रधानमंत्री की कैशलेश अर्थ-व्यवस्था के अनुसार बिलासपुर के बैंकों और  एटीएम में पर्याप्त नगदी हैं। आम जनता से बताना चाहुंगा कि किसी भी अफवाह पर गौर ना करें। बैंक कभी भी टेलीफोन या मोबाइल पर पासवर्ड नही पूछता है । खाताधारक कभी भी किसी को भी अपनी गोपनीय जानकारी नही देता है।

                    जरूरी है कि खाताधारक अल्टरनेटिव डिलेवरी चैनल कार्ड स्वेप, ऑन लॉइन पैमेंट, ई वालेट, भारत क्यू आर कोड, भीम एप्प का इस्तेमाल बढ़ाते हुये केवल आवश्यकता अनुसार ही नगदी आहरण करे। यह भी बताना जरूरी है कि घर में अतिरिक्त कैश जमा होने से अन्य लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

                     ललित अग्रवाल ने बताया कि बैठक में स्टेट बैंक डीजीएम अनुराग मित्तल, रीजनल मैनेजर माधवनंद परिडा, केनरा बैंक क्षेत्रीय प्रबधंक लोकनाथ ,सुनील खामरी, समेत बड़ी सँख्या में विभिन्न बैंको के अधिकारी मौजूद थे। ललित ने बताया कि सदस्यों ने मंथन के दौरन बिलासपुर की आम जनता से विमुद्रीकरण के नाजुक दौर में दिये गये सहयोग को भी याद किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *