कर्ज एक्ट में सपड़ाया रेलवे अधिकारी

IMG_20150604_110325बिलासपुर— सूदखोरी अभियान में आज पुलिस ने रेलवे के एक अधिकारी को हिरासत में लिया है। अधिकारी का नाम रामअवतार मीणा है। आरोप है कि मीणा अपने ही विभाग के लोगों को कर्ज देकर उंची रकम वसूलने का दबाव बनाता था। दो अलग-अलग शिकायतों में तारबाहर पुलिस ने आज उसे गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया।

                   रेलवे गोदाम प्रभारी रामअवतार मीणा के खिलाफ रेलवे के ही दो कर्मचारियों एन.जी.जे.राइट और सतीष कुमार की शिकायत पर तारबाहर पुलिस ने अपराध क्रमांक 118/119 के कर्जा एक्ट के तहत गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन कार्यालय में गोदाम इंचार्ज के पद पर पदस्थ राम अवतार मीणा अपने ही विभाग के सह कर्मचारियों को कर्ज दिया करता था। इसके बाद उनसे कोरे स्टाम्प पर हस्ताक्षर लेकर पासबुक और एटीएम कार्ड जब्त कर लेता था। मीणा दी गई राशि से कई गुना रकम वसूल रहा था। मामले में आरटीएएस कालोनी निवासी एन.जी.जे.राइट्स और कंस्ट्रक्शन कालोनी निवासी सतीष कुमार ने मीणा से प्रताड़ित होकर मामले की शिकायत तारबाहर थाने में दर्ज कराई थी।

     पुलिस के अनुसार रामअवतार मीणा के खिलाफ तोरवा थाने में सूदखोरी से संबधित दो मामले दर्ज हैं। प्रार्थी प्रताड़ना से तंग आकर आए दिन थाने पहुंच रहे थे। जिस पर तारबाहर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आज मीणा को गिरफ्तार कर लिया । पुलिस ने मीणा को न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.