गणतंत्र दिवस पर सीएमडी का संदेश… 100 मिलियन टन का लक्ष्य पार…टीम के प्रयास से हासिल मिली नई ऊंचाई

बिलासपुर—एसईसीएल में गणतंत्र दिवस हर्ष और उल्लास के साथ मनाया गया। वसंत विहार स्थित खेल मैदान में आयोजित समारोह में मुख्य अतिथि अध्यक्ष सहप्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने राष्ट्रीय ध्वज फहराकर, परेड की सलामी ली। इस अवसर पर अध्यक्ष सहप्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने परेड कमांडर व्ही. दक्षिणामूर्ति उप प्रबंधक सुरक्षा  उप कमांडर डी.पी. दिवाकर सुरक्षा उप निरीक्षक बिलासपुर की अगुवाई में आयोजित मुख्य परेड का निरीक्षण किया। परेड निरीक्षण के समय मुख्य अतिथि के साथ लेफिटनेंट कर्नल अशोक कुमार, प्रबंधक सुरक्षा विशेष रूप से मौजूद थे।

         परेड में एसईसीएल सुरक्षा विभाग के दो प्लाटून नेतृत्व की अगुवाई श्रीचमरू सहायक सुरक्षा उप निरीक्षक और प्रभु दयाल मिश्रा सहायक सुरक्षा उप निरीक्षक ने किया।  डीएव्ही स्कूल एनसीसी बालक का नेतृत्व मिनाल जाॅंगड़े, डीएव्ही स्कूल एनसीसी बालिका का नेतृत्व कुमारी राखी सिंह परिहार, डीएव्ही स्कूल बालिका का नेतृत्व कु. सानिका जोशी,  डीएव्ही स्कूल बालक की अगुवाई प्रतीकराय ने किया। परेड में सागर बेण्ड प्लाटून की अगुवाई सूबेदार मेजर बेनीप्रसाद ने की ।

              अपने संदेश में मुख्य अतिथि ए.पी. पण्डा ने गणतंत्र दिवस की बधाई देते वर्तमान वर्ष 2019-20 में उत्पादन उत्पादकता के निर्धारित लक्ष्यों के सामंजस्य की बात कही। उन्होने कहा कि हमारी कंपनी ने 100 मिलियन टन कोयला उत्पादनका लक्ष्य पार कर लिया है। प्रत्येक दिन एसईसीएल टीम उत्पादन के नई ऊंचाइयों को हासिल कर रही है। उत्पादन और डिस्पैच में तेजी से बढ़ोत्तरी के उद्देश्य से कंपनी में शुरू किये गये फर्स्ट माईल कनेक्टिविटी प्रोजेक्ट्स अपने आप में एक ऐतिहासिक निर्णय है। इसके तहत गत सितंबर कुसमुंडा में सीएचपी के प्रथम चरण में बेल्ट कन्वेयर सिस्टम से  20 हजार टन क्षमता के बंकर की  कमीशनिंग का कार्य पूरा कर लिया गया है। दूसरे चरण में इस साल साईडिंग के साथ आरएलएस सुविधायुक्त 4 साइलो का कार्य भी पूरा हो जाने की उम्मीद है। प्रोजेक्ट की अन्य योनजाओं जैसे गेवरा में साईडिंग के साथ साइलों 5और 6 में आरएलएस युक्त इन-पिटबेल्ट कन्वेयर सिस्टम, मानिकपुर, बरौद ओसी एक्सपेन्शन में सीएचपी साईडिंग के साथ साइलो, दीपका में मैकेनाइज्ड व्हार्फवाल सिस्टम, भूमिगत खदानों जैसे-केतकी, कुरजा, गायत्री, रेहरमेंकंटीन्यूअसमाईनर, बटुरा हाईवाल माईन में हाईवाल तकनीक का नियोजन, खुली खदानों में सरफेस माईनर लगाये जाने पर भी तेजी से कार्य चल रहे हैं।

            पण्डा ने बताया कि कुसमुण्डा खुली खदान और खैरहा भूमिगत खदान को कुछ दिन पूर् वही क्रमशः 40 मिलियन टन से बढ़ाकर 50 मिलियन टन और 0.5 मिलियन टन से बढ़कार 0.8 मिलियन टन उत्पादन करने पर्यावरणीय स्वीकृति प्राप्त हुई है। उपस्थित लोगों को मुख्य अतिथित ने जानकारी दी कि गेवरा खुली खदान के लिए एक बार फिर 45 मिलियन टन से बढ़कार 49 मिलियन टन प्रतिवर्ष की पर्यावरणीय स्वीकृति शीघ्र प्राप्त होना अपेक्षित है।कोयलांचल के दूरदराज के इलाकों में कोयले की ढुलाई और यात्री परिवहन की सुविधा के विस्तार के उद्धेश्य से बनाई गई एसईसीएल की अनुषंगी रेल काॅरीडोर कंपनियों में से ईस्ट रेल काॅरीडोर की खरसिया-कोरिछा पर सिंगल लाईन की कमीशनिंग का कार्य पिछले अक्टूबर में पूरा हो गया है। परियोजना का पहला चरण सितंबर 2020 तक पूराहोजाने की संभावनाहै।

             मुख्य समारोह शुरू होने से पहले एसईसीएल प्रशासनिक भवन प्रांगण में आयोजित कार्यक्रम में निदेशक (कार्मिक) डाॅ. आर.एस. झा ने शहीद स्मारक और भारत रत्न बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर खनिक प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। झण्डा फहराने के बाद सुरक्षा प्रहरियों की टुकड़ी ने आयोजित परेड की सलामी ली। महमूद खान सुरक्षा उप निरीक्षक मुख्यालय ने अगुवाई की। राष्ट्रीय गान डीएव्हीस्कूल के छात्र/छात्राओं ने पेश किया। कोल इण्डिया कारपोरेट गीत बजाया गया। डाॅ. आर.एस. झा ने सम्बोधन में कहा कि आज ही के दिन हमें विश्व का सबसे बड़ा संविधान मिला। बाबा साहब डाॅ भीमराव अम्बेडकरको शत-शत नमन करताहूॅं। संविधान में अधिकार और कर्तव्य हमें मिले हैं। हमें अपने अधिकारों के साथ देश के प्रति कर्तव्यों का निर्वहन करना है।

        भारत विश्व में सशक्त देश के रूप में बनने जा रहा है। इसमें कोयला उद्योग की महति भूमिका है। वसंतविहार खेलमैदान के मुख्य समारोह में मुख्य रूप से निदेशक (कार्मिक) डा. आर.एस. झा, मुख्य सतर्कता अधिकारी बी.पी. शर्मा, निदेशक तकनीकी (संचालन) आर.के. निगम, निदेशक तकनीकी (योजना/परियोजना) एम.के. प्रसाद, श्रद्धा महिला मण्डल, उपाध्यक्षा सुमन झा, संगीता शर्मा, शीनू निगम, पिंकी प्रसाद एसईसीएल संचालन समिति, कल्याणमण्डल और सुरक्षासमिति के पदाधिकारीगण, विभिन्न विभागों के अध्यक्ष, श्रमसंध प्रतिनिधिगण, स्कूली बच्चे उपस्थित थे।

            समारोह में अध्यक्ष सहप्रबंध निदेशक ए.पी. पण्डा ने अपने निदेशक मण्डल और श्रद्धा महिला मण्डल की पदाधिकारियों के साथ सामूहिक रूप से कबूतर और गुब्बारे आकाश में छोड़कर शांति का संदेश दिया।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...