व्यापारी,नेता और शिक्षकों ने दिया सहयोग…मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा किया धन..कहा हमेशा रहेगा सहयोग

तखतपुर—(टेकचन्द)- कोरोना वायरस पीड़ित का उपचार और वायरस के प्रभाव को रोकथाम के लिए प्रदेश सरकार को मदद देने क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और कर्मचारी संघ सामने आया है। नगर के युवा व्यवसायी शाहीद एबानी ने अपने पिता स्वर्गीय उस्मान भाई की स्मृति में मुख्यमंत्री सहायता कोष में 51000 की राशि चेक के माध्यम से कलेक्टर को देने का फैसला किया है। जिला पंचायत सदस्य जितेंद्र पांडे ने अपना  एक माह का  मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का एलान किया है। 
 
               कोरोना पीड़ितों के सहयोग के लिए जनप्रतिनिधि से लेकर समाजसेवी और  कर्मचारी संगठनों ने हाथ आगे बढ़ाया है। तखतपुर नगर के युवा व्यवसायी शाहिद ऐबानी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 हजार देने का एलान किया है। वहीं जिला पंचायत सदस्य जितेन्द्र पाण्डेय ने अपने एक माह का वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में दिए जाने की मांग की है।
 
                   जितेन्द्र पाण्डेय ने बताया कि  विपत्ति के समय एक दूसरे के काम आना ही मानवता है। जिला पंचायत सदस्य ममता धनंजय छत्रिय पार्षद  परमीत कौर हुरा ने भी अपना एक माह का मानदेय मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का एलान किया है। श्रीमती हुरा ने कहा कि हम सभी का दायित्व बनता है कि सरकार के प्रयास को सफल बनाएं।
 
             छत्तीसगढ़ व्याख्याता संघ ने एलान किया है कि 1 दिन का वेतन  मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करेंगे। संघ के प्रवक्ता जितेंद्र शुक्ला ने कहा कि पूरा विश्व गंभीर आपदा से जूझ रहा है। ऐसे में हम सभी का दायित्व बनता कि यथासंभव मदद करें । प्रदेश के अधिकारी कर्मचारी ने भी अपना वेतन मुख्यमंत्री राहत कोष में देने का एलान  किया है। दिनेश राजपूत ने अपना एक दिन का वेतन जमा किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *