सांसद साव ने जलाया दीप..मां भारती को किया याद..पूर्व मंत्री अमर ने भी धर्मपत्नी के साथ मनाया उत्सव.. कहा…जीत से कोई डिगा नहीं सकता

बिलासपुर—बिलासपुर से लेकर दिल्ली तक ठीक 9 बजे लोगों ने स्विच आफ किया और चारो तरफ अंधेरा फैल गया। लेकिन लोगों ने दीप जलाकर प्रधानमंत्री के आह्वान को सच भी साबित किया। हर छत और घर के सामने लोग हाथ टार्च और और मोमबत्ती जलाकर कोरोना का विरोध किया। लोगों ने बताया कि देश एक साथ खड़ा है। यही कारण है कि देशवासियों ने दीवाली पहले ना केवल दीवाली मनाया। बल्कि देश की जनता ने आतिशीबाजी भी की।
 
               ठीक 9 बजे बिलासपुर से लेकर दिल्ली तक घरों की बिजली खुल लोगों ने गुल कर प्रधानमंत्री के आह्वान का स्वगत किया। इस दौरान लोगों ने जमकर आतिशबाजी भी की। बिलासपुर में पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने परिवार के साथ अपने घर के सामने दीपमाला जलाकर कोरोना को खुली चुनौोती दी। अमर ने परिवार के सांथ रात्रि 9 बजे अपने घर की लाइट बंद कर दिया। इसके बाद करोना महामारी के दीप भी जलाया।
 
          अमर ने कहा कि अंधेरे से देश को प्रकाश की ओर ले जाने वाले इस अभियान से देश को फायदा होगा। प्रधानमंत्री के आह्वान पर आज देश ने एक जुटता और  सामुहिकता का परिचय देकर अपने ऊर्जा का भी परिचय दिया है। इसके लिए देश वासिओं को हम नमन करते हैं। देश मे आए करोना रूपी महामारी को खत्म करने का संकल्प लेते हैं।
 
           वहीं आज 178 नार्थ एवेन्यू नई दिल्ली में सांसद अरुण साव ने परिवार के साथ अपने बंगले के सामने घर की बिजली बन्द कर उत्साह के साथ ठीक 9 बजे दीप जलाया। सांसद साव ने कहा कोरोना संकट के अंधकार को चुनौती देने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने देशवासियों से आह्वान किया। और देश की जनता ने प्रधानमंत्री के निवेदन को स्वीकार करते हुए..ठीक 9 बजे ऐसा कर दिखाया।
 
                सांसद ने इस अभूतपूर्व एकता के लिए प्रधानमंत्री के साथ देशवासियों को शुभकामनाएं दी। सासद साव ने कहा हमारी संस्कृति में दर्ज है कि ऊजाले की हमेशा जीत होती है। दुख का अंधेरा हमें परेशान तो कर सकता है। लेकिन इतिहास गवाह है कि जीत हमेशा हमारी यानि देशवासियों की हुई है। हमने ठीक नौ बजे लाइट को बन्द किया। और 9 बजकर 9 मिनट पर लाइट जलाकर कोरोना के खिलाफ जंग का एलान कर दिया है। 
 
           सांसद ने कहा कि हमने इस दौरान दीपक और मोमबत्तियां जलाकर माँ भारती का स्मरण किया। देशवासियों के लिए खुशाली की कामना की। इस दौरान धर्मपत्नी मीना साव, पुत्र अमीष साव समेत परिवार के अन्य सदस्यों ने भी अंधकार पर प्रकाश का स्वागत भी किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *