यूजीसी का फरमान..बिना परीक्षा छात्रों को मिलेगा प्रमोशन..अंतिम वर्ष और अंतिम सेमेस्टर के छात्र देंगे इम्तहान

बिलासपुर—-कोरोना संक्रमण के दौरान उत्पन्न परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए यूजीसी ने वार्षिक परीक्षा नहीं कराने का फरमान जारी किया है। पत्र के माध्यम से राज्य शासन को निर्देश दिया है कि आन्तरिक मूल्यांकन के आधार पर सभी छात्रों का रिजल्ट तैयार किया जाए। यूजीसी ने अंतिम वर्ष और अंतिम सेमेस्टर वाले छात्रों की परीक्षा को लेकर जल्द से जल्द तारीख घोषित करने को भी कहा है। यानि अंतिम वर्ष और सेमेस्टर के छात्रों का जनरल प्रमोशन नहीं दिया जाएगा।सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप NEWS ग्रुप से जुडने के लिए यहाँ क्लिक कीजिये

           कोरोना काल के दौरान उत्पन्न परिस्थितियों और छात्रों की मांग को देखते हुए यूजीसी ने शर्तों के साथ परीक्षा नहीं लिए जाने का पत्र राज्य शासन को दिया है। राज्य शासन ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को पत्र जारी किया है। पत्र में बताया गया है कि अंतिम वर्ष के अलावा अंतिम सेमेस्टर के छात्र छात्राओं को परीक्षा में शामिल होना पड़ेगा। जल्द से जल्द परीक्षा तारीख का एलान कर दिया जाएगा।

               पत्र में बताया गया है कि अंतिम सेमेस्टर और अंतिम वर्ष के छात्रों के अलावा सभी छात्र छात्राओं का परिणाम पुरानी कक्षाओं में विषय वार प्राप्त अंक के आधार पर तैयार किया जाएगा। ऐसे छात्र जो क्ष्रेणी सुधारने की इच्छा रखते हैं..उन्हें आगामी विशेष सेमेस्टर में परीक्षा में बैठना होगा।

            यूजीसी ने यह भी निर्देश दिया है कि अंतिम सेमेस्टर और अंतिम वर्ष की परीक्षा तारीख का एलान जल्द किया जाएगा। इसकी सूचना छात्रों को कम से कम पन्द्रह दिन पहले दी जाएगी।

               बहरहाल आदेश के बाद छात्रों ने खुशी जाहिर की है। एनएसयूआई जिला कार्यकारी अध्यक्ष रंजीत सिंह ने बताया कि प्रदेश सरकार ने छात्रों की परेशानी को गंभीरता से लिया है। चूंकि लाकडाउन के दौरान छात्रों को विपरीत परिस्थितियों  गुजरना प़ड़ा है। जाहिर सी बात है कि कोर्स भी पूरा नहीं हुआ। जिसके चलते तैयारी भी नहीं हुई।

              रंजीत ने कहा कि जनरल प्रमोशन मिलने से छात्रों में खुशी है। इसके विश्व विद्यालय प्रबंधन के साथ मुख्यमंत्री और उच्च शिक्षा विभाग के प्रति छात्र छात्राओं के साथ ही एनएसयूआई संगठन धन्यवाद जाहिर करता है।

loading...
loading...

Comments

  1. By Dushyant sahu

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...