मस्तूरी पुलिस की सफलता..आपरेशन मुस्कान में मिले 11 बजे..तीन मामलों में किया गया अपराध दर्ज

बिलासपुर— पुलिस अधीक्षक बिलासपुर प्रशांत अग्रवाल के निर्देश पर जिले में 1 जुलाई से 31 जुलाई 2020 तक ऑपरेशन मुस्कान अभियान चलाया गया। इस दौरन अधिक से अधिक अपहृत नाबालिक बच्चों की खोजबीन की गयी। इसी कड़ी में मस्तूरी पुलिस ने ऑपरेशन मुस्कान के तहत अधिक से अधिक नाबालिक बच्चों को 11 बच्चों का पता लगाया गया।
 
                मस्तूरी थानेदार फैजुल शाह ने बताया कि आलाधिकारियों के निर्देश पर ऑपरेशन मुस्कान के बेहतर नतीजे सामने आए। अलग-अलग 4 टीम का गठन कर 11 बच्चों को जगह जगह से बरामद किया गया। टीम ने मुखबिर सक्रियता और साइबर सेल की सहयोग से  2017 से 2020 के बीच अपहृत 11 बालिकाओं को अलग-अलग प्रदेशों उड़ीसा उत्तर प्रदेश मध्य प्रदेश राजस्थान और दिल्ली से पकड़ा गया। कुल 11 प्रकरण में 8 नाबालिक बच्चे किसी भी प्रकार की अपराध घटित होना नहीं बताया। तीन बच्चों ने यौन अपराध घटित होने की जानकारी दी है।  तीनों प्रकरण में धारा 363 के साथ ही भारतीय दंड संहिता की धारा 366, 376 और पोक्सो एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत कार्यवाही की गयी है।
 
             फैजुल शाह ने बताया कि तीन आरोपियों कल्लू उर्फ परमेश्वर पिता कमल प्रसाद, 2 किशोर कुमार उर्फ बंटी पिता भागवत प्रसाद और गणपत जांगड़े पिता दाऊ राम जांगड़े को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। चूंकि मस्तूरी थाना ग्रामीण प्रधान है इसलिए स्थानीय लोगों से आग्रह किया गया है कि किसी के बहकावे में आकर नाबालिक बच्चों को बाहर ना जाने दें। घटना की जानकारी मिलती है, तो तत्काल मस्तूरी पुलिस को सूचित करें।
 
      आपरेशन मुस्कान की संपूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी मस्तूरी फैजुल शाह समेत उपनिरीक्षक सीएस नेताम,सहायक उपनिरीक्षक हेमसागर पटेल, सहायक उप निरीक्षक प्रदीप यादव, सहायक उपनिरीक्षक भूरे दास, महिला आरक्षक प्रीति शर्मा, मीना राठौर, आरक्षक मिथिलेश सोनी, कमलेश शर्मा, संतोष पाटले, प्रेम शंकर बंजारे योगेंद्र खुटे, बसंत मानिकपुरी धर्मेंद्र साहू दीपक साहू सुरेंद्र कौशिक कृष्ण कुमार महिलांगे योगेश निर्मलकर की सराहनीय भूमिका रही।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...