शैलेन्द्र ने निगम और महापौर पर फिर साधा निशाना

SMART_CITY_BITE_SHAILENDRA 005बिलायवसपुर—कांग्रेस पार्षद प्रवक्ता शैलेन्द्र जायसवाल ने निगम और महापौर की काबिलियत पर शक जाहिर किया है। उन्होने निजी हाथों में कर वसूली अधिकार दिये जाने का विरोध किया है। शैलेन्द्र ने बताया कि निगम क्षेत्र में कर वसूली रांची की स्पेरोसाफ्ट कंपनी करेगी। निर्णय से जाहिर हो गया है कि भाजपा सरकार भी अपने महापौर की काबिलियत पर शक है।

                                  पार्षद शैलेन्द्र ने निजी कंपनी को कर वसूली अधिकार दिए का विरोध किया है। उन्होने बताया कि निगम ने कंपनी कर्मचारियों को बिलासपुर की जनता के साथ दुर्व्यवहार करने का लायसेंस दे दिया है। अभी तक सफाई, जल, संपत्तिकर समेत अन्य सभी प्रकार के करों की वसूली निगम कर्मचारी कर रहे थे। लेकिन अब रांची की स्पेरा साफ्ट कंपनी करेगी। कंपनी ने कर्मचारियों की नियुक्ति भी कर ली है। बताया जा रहा है कि नियुक्त किये गये सभी कर्मचारी शराब व्यवसायियों के बेगार पंडे हैं। जिनकी छवि जनता के बीच अच्छी नहीं है।

                                 कांग्रेस नेता ने बताया कि नगर निगम की इस कार्रवाई से जनता पर टैक्स का बोझ बढ़ेगा। निगम में करीब 100 से अधिक अधिकारी और कर्मचारी काम करते हैं। इनके वेतन पर प्रति महीने करीब  3 करोड़ रूपए खर्च होते हैं। जाहिर सी बात है कि इन पर अतिरिक्त दबाव रहेगा। जानकारी मिल रही है कि अंसतुष्ट कर्मचारियों ने आंदोलन का मन बना लिया है।

             शैलेन्द्र ने बताया कि निगम ने कंपनी को 90 प्रतिशत कर वसूली का लक्ष्य दिया है। वसूले गए कर से कंपनी को करीब 15 प्रतिशत कमीशन दिया जाएगा।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...