संविधान की हत्या..सियाराम समेत आदिवासियों ने कहा..आखिरी सांस तक लड़ेंगे

25.6बिलासपुर— जोगी कांग्रेस नेताओं ने कलेक्टर कार्यालय को घेरा…। हाईपावर कमिटी के निर्णय को असंवैधानिक बताया। कलेक्टर कार्यालय घेराव कार्यक्रम में भारी संख्या में मरवाही विधान सभा के आदिवासी प्रतिनिधि…मौजूद थे। बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक समेत पूर्व आदिवासी विधायक गुलाब सिंह और ह्रदय राम राठिया,चंद्रभान बारामते.अनिल टाह,ज्वाला प्रसाद ने बताया कि हाईपावर कमेटी ने सरकार के दबाव में जाति सर्टिफिकेट निरस्त किया है।

                      जोगी जाति मामले में हाई पावर कमिटी के निर्णय के खिलाफ मरवाही विधानसभा खासतौर पर जोगीसार के लोगों ने जनता कांग्रेस नेताओं की अगुवाई में कलेक्टर कार्यालय का घेराव किया। अतिरिक्त कलेक्टर के.डी.कुंजाम को राज्यपाल के नाम पत्र दिया।

        इसके पहले प्रशासन ने शांति व्यवस्था को बनाए रखने कलेक्टर कार्यालय के आस पास के क्षेत्र को आवागमन के लिए प्रतिबंधित कर दिया था। सुरक्षा के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बल को तैनात किया गया था। जोगी कार्यकर्ताओं की रैली को बेरीकेट के बाहर ही रोक दिया। मौके पर पहुंचकर अतिरिक्त कलेक्टर के.डी.कुंजाम ने राज्यपाल के नाम पत्र लेते हुए उचित स्थान तक पहुंचाने का आश्वासन दिया।

                              इसके पहले बेरिकेट्स तोड़ने का प्रयास कर रहे जछकां कार्यकर्ताओं को पुलिस ने रोकने का प्रयास किया। पुलिस और कार्यकर्ताओं के बीच हल्की झड़प भी हुई।

                      प्रदर्शनकारियों में प्रमुख रूप से शामिल बिल्हा विधायक सियाराम कौशिक, पूर्व विधायक मनेन्द्रगढ़ गुलाब सिंह, पूर्व विधायक लैलूंगा, ह्रदय राम राठिया, पूर्व विधायक मुंगेली चंद्रभान बारामते समेत मरवाही के आदिवासी प्रतिनिधि शामिल थे।

 जनता कांग्रेस के नेताओं ने अतिरिक्त कलेक्टर को बताया कि हाईपावर कमेटी ने जोगी की जाति को अमान्य कर संविधान की हत्या की है। छत्तीसगढ़ पंचायतीराज अधिनियम 1993 में ग्राम सभा को संवैधानिक दर्जा हासिल है। जोगीसार की पंचायत ने एकमत से अजीत जोगी की जाति कंवर बताया है। बावजूद इसके ग्राम पंचायत के निर्णय को हाईपावर कमेटी ने जाति प्रमाण पत्र को निरस्त कर दिया है। निर्णय असंवैधानिक और गैर कानूनी है।

                आदिवासी प्रतिनिधियों ने कहा कि हाई पावर कमिटी के एक भी सदस्य जोगीसार नहीं आए। आकाओं के कहने पर अधिकारियों ने झूठी रिपोर्ट बनाई है। जोगी के साथ अन्याय को बर्दास्त नहीं किया जाएगा। आदिवासी प्रतिनिधियों ने आखरी सांस तक आदिवासी विरोधी ताकतों से लड़ने की बात कही।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...