नवजात की मौत पर परिजोनों का हंगामा…डाक्टरों को बताया जिम्मेदार

CIMSJPGबिलासपुर— सिम्स में नवजात की मौत पर परिजनों ने हंगामा किया है। पीड़ित परिवार ने सिम्स महकमे पर नवजात की मौत का जिम्मेदार बताया है। परिजनों का आरोप है कि नवजात के इलाज में लापरवाही की गयी। जिसके चलते बच्चे की मौत हुई है।

                      सिम्स में नवजात की मौत पर पीडित परिवार ने हंगामा किया है। जानकारी के अनुसार ममता निर्मलकर पति मनोज निर्मलकर को एक दिन पहले मंगलवार को सिम्स में बच्चे ने जन्म लिया। बुधवार की सुबह बच्चा खत्म हो गया। परिजनोंं ने बच्चे की मौत के लिए सिम्स डाक्टरों को जिम्मेदार ठहराया।

                   नवजात मृतक बच्चे का पिता मनोज निर्मलकर ने बताया कि मंगलवार को स्वस्थ्य बच्चे ने जन्म लिया था। लेकिन डाक्टरों ने बिना सोचे समझे और इलाज के नवजात को मां के हवाले कर दिया। देर रात के बाद बच्चे ने सांस लेना बंद कर दिया।

                     सिम्स चिकित्सक ने बताया कि बच्चे का जन्म प्रीमेच्योर था। बच्चा बहुत कमजोर पैदा हुआ। ऐसे बच्चों को मां की दूध की जरूरत स्वस्थ्य बच्चे से कहीं ज्यादा होती है। शायद स्तनपान के समय बच्चे की स्वांस नली दूध अटक गया। और बच्चे की मौत हो गयी। डाक्टरों की सफाई को परिजनों ने मानने से इंकार कर दिया। परिजनों ने बताया कि नवजात की मौत के लिए सिम्स के डाक्टर जिम्मेदार हैं।

अधीक्षक ने दिया पीएम का आश्वासन

                  हंगामा होने पर सिम्स अधीक्षक डॉ.रमणेश मूर्ति भी मौके पर पहुंच गए। उन्होने परिजनों की मांग पर बच्चे का पीएम कराने को कहा। मूर्ति ने कहा कि पीएम के बाद मौत के कारणों की जानकारी मिल जाएगी। बच्चे की मौत स्वांस नली में दूध के अटकने से हुई है या नहीं इस बात का भी खुलासा हो जाएगा। डॉ.मूर्ति ने कहा कि यदि मौत के लिए सिम्स के डाक्टर या अन्य कर्मचारी जिम्मेदार होंगे तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

                     मूर्ति के आश्वासन के बाद परिजनों ने सिम्स प्रबंधन पर दोषी डाक्टरोंं को बचाने का आरोप लगाया। परिजनों ने कहा कि पीएम से इंकार नहीं है लेकिन रिपोर्ट दोषी लोगों को बचाने के लिए भी तैयार किया जा सकता है। क्योंकि सिम्स के सभी डाक्टर एक दूसरे से मिले हुए हैं।

                                                            किसी तरह पुलिस और सिम्स प्रबंधन के प्रयास से परिजनों को शांत कराया गया।

loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...