कांग्रेसियों ने जलाया शाह का पुतला…कहा अब जनता सीखाएगी भ्रष्टाचार का सबक…बताना होगा सहकारी बैंकों में किसका रूपया

बिलासपुर– कांग्रेस नेताओं ने पुलिस को चकमा देकर कांग्रेसियों ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का पुतला जलाया। जब तक पुलिस पहुंचती पुतला राख में तब्दिल हो चुका था। सभी कांग्रेसी कांग्रेस भवन से झुण्ड में निकले। इधर नेहरू चौक पर तैनात पुलिस जवान एक एक कार में पुतला तलाशते रहे। लेकिन हाथ कुछ नहीं आया। काफी देर बाद छत्तीसगढ भवन से कांग्रेसी नेता हाथ में जलता पुतला लेकर आते हुए दिखाई दिए। पुतला को जलता देख पुलिस जवान छीनने के लिए दौड़ पड़े। लेकिन जवानों के हाथ में अधजली बांस की डंडी और कुछ राख ही लगा।इस दौरान पुलिस और कांग्रेसियों के हाथ जमकर झूमा झटकी भी हुई। दो चार लोगों के हाथ में हाथ छिल भी गए।

नेहरू चौक पर पहुंचकर कांग्रेसियों ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री पर भी निशाना साधा। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि नोटबंदी के दौरान प्रधानमंत्री ने कालाधन को गोराधन बनाने का वादा कर नोटबंदी किया। लेकिन अब जाकर खुलासा हुआ है कि कालाधन गोराधन होना तो दूर अब कोयला धन बन गया है।

                                       अटल श्रीवास्तव ने कहा कि नोटबंदी के दौरान भाजपाइयों ने अपना कालाधन सहकारी बैंकों में रखा। गुजरात के अहमदाबाद में जिस सहकारी बैंक के डायरेक्टर अमित शाह हैं। उसमें भाजपा नेताओं ने नोटबंदी के बाद मात्र पांच दिनों में 3118.51 करोड़ रूपए कालाधन जमा किया। आरटीआई से मामला सामने आया है। अब भाजपा सरकार कोयलाधन को फिर से सफेद बताने की नाटक कर रही है। दरअसल नोटबंदी लाया ही इसलिए गया है कि ताकी विपक्ष के हौंसले पस्त हों। और भाजपा इस बहाने अपने कालेदन को आसानी से सफेद कर सकें। लोकतंत्र को खत्म करने के लिए ही नोटबंदी अभियान लाया गया।

     प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता ने शैलेश पाण्डेय ने बताया कि नोटबंदी के दौरान सैकड़ों लोगों को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा है। हजारों बेटियों की शादी टूटी। कई बेबस पिता ने आत्महत्या की। पूरा देश और परिवार महीनों सड़क पर दिन रात काटा। अब जाकर पता चला कि भाजपा सरकार ने नोटबंदी सिर्फ अपने कालेधन को सफेद करने के लिए की थी। बताया गया था कि नोटबंदी के बाद आतंकवाद,नक्सल समस्या,सीमा की घुसपैठ समस्या और कालाबाजारी खत्म हो जाएगी। लेकिन देखने में आ रहा है कि सीमावर्ती समस्या बढ़ गयी है।  नक्सल समस्या जस की तस खड़ा है। आतंकवाद ने जीना मुश्किल कर दिया है। पाण्डेय ने बताया कि नोटबंदी केवल बीजेपी के काले धन को सफेद करने के लिए किया गया था। केन्द्र सरकार ने सवा अरब आबादी को केवल मूर्ख बनाया है।

                       जिला कांग्रेस अध्यक्ष विजय केशरवानी और नरेन्द्र बोलर ने कहा कि नोटबंदी से ना केवल भारत की अर्थव्यवस्था जर्जर हुई है। बल्कि लोगों का विश्वास भी डगमगाया है। व्यापार जगत बुरी तरह से टूट गया है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जिस बैंक के प्रमुख है वहां नोटबंदी के दौरान भाजपा नेताओं का काला धन सफेद किया गया। अकेल बिलासपुर में ही नोटबंदी के दौरान मात्र पांच दिनों में करीब 60 करोड़ रूपए भाजपा नेताओं के जमा हुए। केन्द्र और राज्य सरकार को बताना होगा कि अकेले छत्तीसगढ़ में नोटबंदी के दौरान 280 करोड़ रूपए किनके जमा हुए हैं।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के विशेष सदस्य राजेन्द्र शुक्ला और प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता अभय ने बताया कि नोटबंदी के बहाने देश को कंगाल किया गया है। नोटबंदी के बाद भ्रष्टाचार का बीज भाजपा में बाकी रह गया है। गुजरात से लेकर पूरे देश में नोटबंदी के दौरान मात्र पांच दिनों में भाजपा नेताओं के अरबों रूपए सफेद हो गये। चुनाव सिर पर है। अब जनता भ्रष्टाचार के बीज को हमेशा हमेशा के लिए खत्म करने को तैयार बैठी है।

पुतला दहन कार्यक्रम के दौरान प्रदेश महामंत्री अटल श्रीवास्तव,शहर जिला अध्यक्ष नरेन्द्र बोलर, ग्रामीण जिला अध्यक्ष विजय केशरवानी, प्रदेश प्रवक्ता शैलेश पांडेय, प्रवक्ता अभय नारायण राय, महेश दुबे टाटा, राजेन्द्र शुक्ला, सीमा पाण्डेय स्वाप्निल शुक्ला, अनिल चौहान शैलेन्द्र जायसवाल विक्की आहुजा, अनिल शुक्ला प्रमोद नायक रामा बघेल जावेद मेमन राकेश हंस ऋषि पाण्डेय समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *