प्रशिक्षण को गंभीरता से लें…पी.दयानन्द ने कहा…लापरवाही बर्दास्त नहींं…प्रशिक्षण कार्यक्र को बनाएं इन्ट्रेक्टिव

बिलासपुर— जिला निर्वाचन अधिकारी पी.दयानन्द ने कहा कि यदि प्रशिक्षण गंभीरता से लेंगे..जाहिर सी बात है कि निर्वाचन की प्रक्रिया भी आसान होगी। यह बातें जिला निर्वाचन अधिकारी पी.दयानन्द ने मतदान कर्मियों के प्रशिक्षण कार्यक्रम के दौरान कही।
                  जिला निर्वाचन अधिकारी पी दयानंद ने शुक्रवार को वर्जेस स्कूल में मतदान दलों के प्रशिक्षण कार्यक्रम का जायजा लिया। निरीक्षण कार्यक्रम के दौरान उन्होंने प्रशिक्षण ले रहे मतदान दलों के प्रशिक्षणार्थियों से सवाल-जवाब किये। दयानंद ने प्रशिक्षण लेने वाले कर्मचारियों से सवाल जवाब भी किया। उन्होने पूछा कि वीवीपैट से पर्ची कितने सेकेंड तक दिखती है। यदि कोई मतदाता वीवीपैट से निकलने वाली पर्ची को चुनौती दे तो मतदान दल क्या करेंगे। वीवीपेट मशीन से यदि पर्ची नहीं निकलती है तब क्या करेंगे।
            प्रशिक्षण लेने वाले कर्मचारियों और अधिकारियों ने जिला निर्वाचन अधिकारी पी.दयानंद के सभी सवालों का जवाब दिया। उन्होंने बताया कि यदि कोई मतदाता वीवीपेट से निकलने वाली पर्ची को चुनौती देता है तो उससे लिखित में आपत्ति ली जाएगी। जांच में यदि मतदाता की शिकायकत झूठी साबित होती है तो 1 हजार रूपये जुर्माने के साथ जेल का भी प्रावधान रखा गया है।
                     प्रसिक्षण वालों ने बताया कि वीवीपेट से पर्ची नहीं निकलने की दशा में मतदान दल को तुरंत वरिष्ठ निर्वाचन अधिकारी को सूचित कर वीवीपेट मशीन बदलनी होगी। वीवीपेट की पर्ची सात सेकेंड तक दिखाई देगी। सवाल जवाब के दौरान दयानंद ने उपस्थित सभी लोगों को बताया कि प्रशिक्षण कार्य को  गंभीरता पूर्वक लें। यदि मतदान की प्रक्रिया में कहीं भी लापरवाही होगी तो बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
       दयानन्द ने प्रशिक्षकों से कहा कि प्रशिक्षण को इंटरेक्टिव बनाएं। प्रशिक्षण ले रहे मतदान कर्मियों से सवाल-जवाब करते रहें तभी प्रशिक्षण के सही परिणाम मिल पाएंगे। इसके बाद ही प्रशिक्षणार्थियों के संदेह को दूर किया जा सकेगा। प्रशिक्षण के दौरान डिप्टी कलेक्टर आशुतोष चतुर्वेदी विशेष रूप से मौजूद थे।
           मालूम हो कि मतदान दलों का प्रशिक्षण गर्ल्स डिग्री कॉलेज, शासकीय बहुद्देशीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, नवीन कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में आयोजित किया जा रहा है।
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...