ओवेशन कार्यक्रमः मुख्य न्यायाधीश रामचन्द्र ने कहा…न्याय के प्रति विश्वसनीयता पैदा करना..हम सबकी जिम्मेदारी

बिलासपुर—छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के नवनियुक्त मुख्य न्यायाधीश जस्टिस परपिल्लई रामकृष्णनन् नायर रामचंद्र मेनन का हाईकोर्ट में ओवेशन कार्यक्रम हुआ। ओवेशन कार्यक्रम का आयोजन मुख्य न्यायाधीश के कोर्ट में किया गया। जस्टिस मेनन ने अपने अपने भाषण में कहा कि बार और बेंच सिक्के के दो पहलू होते हैं। दोनों के साथ चलने से न्यायिक व्यवस्था सुदृढ़ होती है। हम सबकी जिम्मेदारी है कि न्याय व्यवस्था को न्यायिक प्रणाली को अाम जनता तक विश्वसनीयता के साथ पहुंचाएं।
                                 छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के नवनियुक्त मुख्यन्यायाधीश परपिल्लई रामकृष्णन नायर रामचन्द्र मेमन को आज ओवेशन दिया गया। ओवेशन कार्यक्रम का आयोजन मुख्य न्यायाधीश के  कोर्ट में दिया गया । मुख्यन्यायाधीश रामचन्द्र ने उपस्थित लोगों को संक्षिप्त में संबोधित किया। उन्होने कहा कि बार और बेंच सिक्के के दो पहलू हैं। दोनों के साथ चलने से न्यायिक व्यवस्था मजबूत होती है। पारदर्शिता और खुले दिमाग से काम कर न्यायिक प्रणाली को आम आदमी तक विश्वसनीय ढंग से पहुंचाना चाहते हैं। यह सभी के सहयोग से ही संभव है। मुख्य न्यायाधीश ने अपने संबोधन में छत्तीसगढ़ के जजों और अधिवक्ताओं की जमकर प्रशंसा की। उन्होने कहा कि ऊर्जावान युवा टीम के साथ काम करने में खुशी होगी।
                    ओवेशन में छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के सभी जज और केरल हाईकोर्ट के अनेक जज और उनके परिजन भी मौजूद थे। कार्यक्रम में जस्टिस प्रशांत मिश्रा ने चीफ जस्टिस का परिचय दिया। महाधिवक्ता कनक तिवारी ने ओवेशन वक्तव्य दिया। इसी अवसर पर विधि विधायी कार्य विभाग छत्तीसगढ़ शासन के प्रमुख सचिव रविशंकर शर्मा संभागायुक्त टी.सी.महावर, पुलिस महानिरीक्षक प्रदीप गुप्ता, कलेक्टर डॉ. संजय अलंग, पुलिस अधीक्षक अभिषेक मीणा, रजिस्ट्रार जनरल नीलम चंद्र सांकला विशेष रूप से मौजूद थे।
                    कार्यक्रम में स्टेट बार कौंसिल के अध्यक्ष प्रभाकर सिंह चंदेल, हाईकोर्ट बार एसोसियेशन अध्यक्ष सी के केशरवानी के अलावा न्यायिक अधिकारी और अच्छी खासी संख्या में वरिष्ठ अधिवक्तागण भी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *