बिलासपुर मे खाद्यमंत्री अमरजीत भगत की पहली बैठक,2 अक्टूबर से होगा नये राशनकार्डों का वितरण,बीपीएल के साथ ही एपीएल के हितग्राहियों को भी मिलेगा चावल

बिलासपुर।सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत नवीन राशनकार्ड जारी करने और बढ़े हुए चावल को देने के लिये तैयारी करने का निर्देश आज खाद्य नागरिक आपूर्ति मंत्री एवं उपभोक्ता संरक्षण योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी व संस्कृति विभाग के मंत्री अमरजीत भगत ने विभागीय कार्यों की समीक्षा बैठक में अधिकारियों को दिया। उन्होंने बताया कि महात्मा गांधी जी के जन्म दिवस 2 अक्टूबर से नये राशनकार्डों का वितरण समारोहपूर्वक शुरू किया जायेगा।मंथन सभाकक्ष में आयोजित बैठक में श्री भगत ने कहा कि सरकार द्वारा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के संबंध में कई महत्वपूर्ण फैसले लिए गए हैं। उन्हें अमल में लाने के लिये विभाग को मुस्तैदी से काम करना है। उन्होंने जानकारी दी कि सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत पुरानेे राशन कार्डों का नवीनीकरण किया जायेगा और नये राशनकार्ड भी बनाये जायेंगे। बीपीएल के हितग्राहियों के साथ ही एपीएल के हितग्राहियों को भी चावल प्रदान किया जायेगा। सीजीवालडॉटकॉम के व्हाट्सएप्प ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

जिले में संचालित उचित मूल्य दुकानों की जानकारी लेते हुए उन्होंने निर्देशित किया कि उचित मूल्य दुकान संचालन की जवाबदारी ऐसे लोगों को दी जाये जिनके खिलाफ कोई शिकायत न हो। उन्होंने खाद्य विभाग के अमले को निर्देशित किया कि वे अपने विभागीय कर्तव्यों का गंभीरतापूर्वक निर्वहन करते हुए हर माह उचित मूल्य दुकानों का निरीक्षण करें। उन्होंने निर्देशित किया कि हितग्राहियों को नये राशनकार्ड बनाने के लिये आवेदन कहां जमा करना है, इसके बारे में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये। नवीनीकरण के आवेदन जनप्रतिनिधियों को भी उपलब्ध करायें।

जिले में धान खरीदी एवं संग्रहण केन्द्रों से धान का उठाव, कस्टम मिलिंग के स्थिति की समीक्षा की गयी। मंत्री अमरजीत भगत ने गोदामों में चावल रखने की क्षमता जानकारी ली। उन्होंने कहा कि एपीएल हितग्राहियांे को भी चावल दिया जाना है। इसलिये ज्यादा चावल गोदामों में रखने की जरूरत पड़ेगी।उन्होने योजना एवं सांख्यिकी विभाग अंतर्गत सांसद एवं विधायक मदों के कार्यों की जानकारी ली।

उन्होंने बताया कि राज्य शासन द्वारा इस संबंध में नीतिगत फैसला लिया गया है कि विधायक निधि की राशि एक करोड़ से बढ़ाकर दो करोड़ किया जायेगा। उन्होंने विधायक निधि अंतर्गत जिले में किये जा रहे कार्यों की जानकारी ली। जिले में संस्कृति विभाग के कार्यों की जानकारी ली एवं संग्रहालय के लिये भवन निर्माण हेतु प्रस्ताव भेजने का निर्देश दिया। जिले में विभिन्न अवसरों पर होने वाले सांस्कृतिक महोत्सव एवं इसके लिये संस्कृति विभाग द्वारा उपलब्ध कराये जाने वाले अनुदान के संबंध में भी जानकारी ली।

बैठक में अतिरिक्त कलेक्टर बी.एस.उईके, जिला खाद्य नियंत्रक दिनेश्वर प्रसाद सहित संबंधित विभागों के अधिकारी, खाद्य विभाग के अन्य अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *