अमित जोगी मेदान्ता रिफर…अपोलो ने उठाया हाथ…अब डॉक्टर त्रेहान करेंगे जांच…जनता कांग्रेसियों ने लगाया षड़यंत्र का आरोप

बिलासपुर—अपोलो प्रबंधन ने अमित जोगी को इलाज के लिए मेदान्ता रिफर कर दिया है। न्यूरोलॉजी विभाग के अध्यक्ष डॉ ए.जयवेलू, हृदय विशेषज्ञ डॉ राजीव लोचन भांजा, किडनी विशेषज्ञ डॉ जगदीश पंड्या, आंतरिक चिकित्सा विशेषज्ञ डॉक्टर मनोज राय, पेशाब विशेषज्ञ डॉ जयंत कनस्कर की पांच सदस्यीय संयुक्त बोर्ड ने  10 सितंबर 2019 को दोपहर 1:36 बजे अमित जोगी को परामर्श के बाद बेहतर इलाज के लिए दिल्ली स्थित मेदान्ता के लिए  रिफर किया है।
         अपोलो के  डिस्चार्ज पत्र में लिखा गया है कि अमित जोगी को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जाता है। आगामी उपचार के लिे उनके मूल अस्पताल गुरुग्राम मेदांता रिफर किया जाता है। चिकित्सकीय दल ने अपने परीक्षण के दौरान पाया कि जोगी के मस्तिष्क के नसों में पथरीलापन है। पेशाब करने में कम फ्लो रेट है। उनका सोडियम 155 से 141 हो गया है। इसके अलावा अमित जोगी की रिपोर्ट अभी तक नहीं आई है। यूरिन और एक्टिव हेपेटाइटिस बी के साथ मिर्गी की चिकित्सा इलाज के लिए उन्हें मेदान्ता अस्पताल के मस्तिष्क विशेषज्ञ डॉक्टर बी पी सिंह और यूरिन विशेषज्ञ डॉ हलावत और हृदय विशेषज्ञ  डॉ नरेश त्रेहान को उपचार के लिए रिफर किया गया है। अपोलो हॉस्पिटल टीम ने अपने रिपोर्ट में बताया है कि बिलासपुर में चिकित्सा के दौरान हाई ब्लड प्रेशर नियंत्रित हो चुका है।
                     अमित जोगी जी के इलाज़ से सम्बंधित एक बार पुनः फिर पार्टी कार्यकर्ता और नेता आशंका जाहिर कर रहे हैं। इकबाल अहमद रिजवी, समीर अहमद बबला ने बताया कि अमित जोगी को अपोलो हॉस्पिटल ने मेदांता गुरुग्राम में उपचार के लिए एक दिन पहले दोपहर में 1:36 बजे में रीफर कर दिया है. लेकिन सरकार ने जेल मैनुअल के कंडिका 9.4.2 के अनुरूप स्वास्थ्य को प्राथमिकता देते हुए तत्काल रिफर सेंटर पहुंचा देना चाहिए था। लेकिन सरकार ने देर रात 11:00 बजे तक अमित जोगी और डॉक्टरों से सम्पर्क नहीं किया है।
             इकबाल रिजवी और बबला समेत अन्य जनता कांग्रेस नेताओं ने कहा कि चिकित्सकीय दल की रिपोर्ट अधिकृत तौर पर अमित जोगी अथवा उनके परिवार को  उपलब्ध कराई गयी थी। लेकिन भ्रामक जानकारी फैलाया जा रहा है कि अमित जोगी मूल रूप से स्वस्थ हैं। फर्जी बातें जनता को गुमराह करने के लिए फैलाया जा रहा है।
        जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ नेताओं ने कहा कि अमित जोगी जी को जेएमएफसी गौरेला के आदेश, अपोलो के पांच चिकित्सकीय मंडल की रिपोर्ट और जेल मैनुअल के प्रावधानों और मानवता को ध्यान में रखते हुए उचित चिकित्सा और उपचार के लिए मेदांता गुरुग्राम पहुचने की व्यवस्था की जाए। यदि सरकार ऐसा नहीं करती है तो इससे जाहिर होगा कि सरकार जानबूझकर जोगी परिवार के खिलाफ किसी भी हद तक गिरकर षड्यंत्र कर सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *