पावर ग्रिड महाप्रबंधक ने बोला…इलेक्ट्रिसिटी एज ए गुड सर्वेन्ट बट बैड मास्टर…कलेक्टर ने बताया..कामन सेन्स जरूरी

बिलासपुर—- पावर ग्रिड कार्पोरेशन और केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के संयुक्त तत्वावधान में एक दिवसीय विद्युत् सुरक्षा सतर्कता कार्यशाला का आयोजन किया गया।  कार्यशाला में विभिन्न सरकारी और गैर सरकारी उपक्रमों में सुरक्षा से सम्बंधित प्रावधानों को लेकर चर्चा हुई। लोगों को सुरक्षा को लेकर विशेष जागरूक रहने के उपायों के बारे में ना केवल बताया गया। बल्कि बिजली जन्य परेशानियों से निपटने के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी।
                  कार्यशाला का आयोजन मेरियाट में किया गया। एक दिवसीय कार्यशाला में बिजली से उत्पन्न् होने वाली परेशानियों से बचने अधिकारियों ने टिप्स दिए। कार्यक्रम का शुभारभ एमडीसीएसपीटीसीएल तृप्ति सिन्हा और कलेक्टर डॉ. संजय अलंग की मौजूदगी में हुई।  तृप्ति सिन्हा ने सुरक्षा की अनदेखी से होने वाले दुर्घटनाओं से प्रतिभागियों को सचेत किया। दैनिक जीवन में सचेत रहने की सलाह दी। उन्होने बताया कि कार्यशाला का प्रमुख उद्देश्य बिजली से होने वाली
दुर्घटनाओं में कमी लाना है। दुर्घटनाओं को किस तरह नियंत्रित किया जाए…इस बात को लेकर लोगों को जागरूक करना है।
                                       उपस्थित लोगों को कलेक्टर डॉ.संजय अलंग ने भी संबोधित किया। उन्होने बताया कि दैनिक जीवन  ‘कामन सेन्स’ का प्रयोग करते हुए  सुरक्षा की आदतों को शुमार करना बहुत जरूरी है। कार्यक्रम में स्वागत भाषण केंद्रीय विद्युत् प्राधिकरण के निदेशक एल के एस राठौर ने दिया। राठौर ने विद्युत् सुरक्षा नियमों  की विस्तार से जानकारी दी।
                      कार्यक्रम में पावर ग्रिड के वरिष्ठ महाप्रबंधक एम्यूथन आर ने बताया कि ‘’इलेक्ट्रिसिटी इज ए गुड सर्वेंट बट बैड मास्टर’’।   पावरग्रिड के महा प्रबंधक कुलेश्वर साहू ने पावरग्रिड में प्रयोग किये जा रहे सेफ्टी प्रेक्टिसेस पर प्रकाश डाला। छत्तीसगढ़ शासन ऊर्जा विभाग के विशेष सचिव एम् एस रत्नम ने विद्युत् दुर्घटनाओं के गहन विश्लेषण पर जोर दिया। साथ ही दुर्घटनाओं की पुनरावृत्ति से बचने के उपाय बताए। सीएसपीडीसीएल के निदेशक जी. सी. मुखर्जी और जयदेव चक्रवर्ती, जिंदल पावर लिमिटेड ने उपस्थित प्रतिभागियों को कार्य के दौरान सेफ्टी के उपायों पर विशेष रूप से जागरूक रहने को कहा।
                    कार्यक्रम में कई सरकारी और गैर सरकारी उपक्रमों एनटीपीसी, सेल, एनएमडीसी , जिंदल, केएसके , डीबी पावर, सीएसपीडीसीएल , सीएसपीटीसीएल,  छत्तीसगढ़ ऊर्जा विभाग और शासकीय इंजीनीयरिंग कालेज के प्रतिनिमंडल समेत स्थानीय गणमान्य लोगों ने कार्यक्रम में शिरकत किया।
                                          कार्यक्रम में  केन्द्रीय विद्युत् प्राधिकरण , पावर ग्रिड , एनटीपीसी ,आईईईएमए,बीआईएस की फेकल्टी को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।  कार्यक्रम को सफल बनाने में पावर ग्रिड बिलासपुर  के वरिष्ठ उप महाप्रबंधक मयंक सिंग, पावर ग्रिड नागपुर के बी एल कुमरे वरिष्ठ उप महाप्रबंधक मानव संसाधन ,सेफ्टी प्रभारी डोमेवाले ने विशेष योगदान दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *