हाईकोर्ट ने मांगा जवाब…मार्कफेड बताए..अब तक कितना हुआ धान का संग्रहण और मिलरो न दिया अनाज

बिलासपुर— हाईकोर्ट ने शासन से जवाब मांगा है कि साल 2011 से अब तक मार्कफेड ने कितना धान संग्रहित किया है। संग्रहित धान से कितना  राइस मिलर को दिया गया और मिलर से कितना अनाज एकत्रित हुआ है। सभी विवरणों को तीन अक्टूबर तक न्यायाल में पेश किया जाए।

                     हाईकोर्ट जस्टिस पी.सैम.कोशी और जस्टि आरपी शर्मा की डबल बैंच में हमर संगवारी की याचिका पर यूनियन ऑफ इंडिया और अन्य याचिका पर सुनवाई हुई।

     याचिका पर सुनवाई करते हुए डबल बैंच ने शासन से जवाब मांगा है कि छत्तीसगढ़ मार्केटिंग फेडरेशन ने साल 2011 से अब तक धान का कितना संग्रहण किया है। 2011 से अब तक राईस मिलर को कितना धान दिया गया। और मिलरों से कितना अनाज हासिल हुआ है। सरकार विवरण के साथ न्यायालय के सामने पेश करे।

                         सुनवाई के दौरान भाजपा नेता विक्रम उसेंडी की तरफ से वकील विकास सिंह और अन्य अधिवक्ताओं ने हस्तक्षेप दायर कर नान घोटले की जांच को रोकने को कहा। साथ ही मामले की जांच सीबीआई से कराने की माग की।

       पहले दिन की सुनवाई के दौरान हाईकोर्ट की डबल बैंच ने महाधिवक्ता से कहा कि धान संग्रहण और वितरण समेत मिलरो से अनाज संग्रहण की सम्पूर्ण जानकारी एकत्रित कर कोर्ट में पेश करें। कोर्ट ने यह भी बताया कि न्यायालय को प्रत्येक मिलर से जो जानकारी मिली है…उससे जाहिर होता है कि क्षति हुई है। इस संबंध में शासन ने क्या जरूरी कदम उठाए हैं,,,जानकारी दी जाए। अब तक इस दिशा में मार्कफेड ने क्या कार्रवाई की है..सारी जानकारी तीन अक्टूबर तक पेश किया जाए।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

loading...