हवाई सेवा संघर्षः मंजिल दूर है…हासिल होने तक करेंगे संघर्ष…फोटोग्राफर संगठन का मिला समर्थन…कायस्थ समाज भी मैदान में उतरने को तैयार

बिलासपुर—- राज्य शासन से 27 करोड़ एलान के बाद भी हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति का अखंड धरना 36 वें दिन चला। संघर्ष समिति के सदस्यों ने कहा कि हम एयरपोर्ट को चालू हालत में जल्द से जल्द चालू हालत में देखना चाहते है। शनिवार को अखण्ड धरना स्थल पहुंचकर फोटोग्राफर एसोसिएशन ने आंदोलन का समर्थन किया।

            हवाई सेवा सुविधा आंदोलन के मद्देनजर सीएम ने एक दिन पहले 27 करोड़ देने का एलान किया है। बावजूद इसके संघर्ष समिति के सदस्यों ने 36 वें दिन आंदोलन किया। सदस्यों ने एलान किया है कि जब तक हवाई  सेवा शुरू नहीं हो जाती है…अखण्ड धरना आंदोलन को रोका नहीं जाएगा। इस दौरान संघर्ष समिति के सदस्यों ने सीएम के प्रति आभार भी जाहिर किया है।

                समिति के सदस्यों ने बताया कि पिछले साल उच्च न्यायालय में केन्द्र और राज्य सरकार की अण्डरटेकिंग देने के बाद भी हवाई सुविधा प्रारंभ नहीं हो पायी थी। बावजूद इसके बिलासपुर को कुछ हासिल नहीं हुआ। इसलिए समिति ने सदस्यों ने आम सभा में बाकायदा प्रस्ताव रखकर लोगों से रायमशविरा के बाद शांतिपूर्ण धरना आंदोलन जारी रखने का संकल्प लिया है। 

            सभा को फोटोग्राफर ऐसोसिएशन के मनोज मिश्रा ने कहा कि बिलासपुर में एयरपोर्ट के निर्माण के लिए आवश्यक धनराशि की व्यवस्था तो हो गयी है। लेकिन केन्द्र सरकार से लायसेन्स और उडानों को लेकर सहमति का मिलना बहुत जरूरी है। मनहरण सिंह राजपूत ने कहा कि हम समिति के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने को तैयार है। पहला पडाव हमने हासिल कर लिया है। लेकिन अभी मंजिल दूर है। मंजिल हासिल होने तक धरना आंदोलन तो क्रमिक चलते रहना होगा।

            ऐसोसिएशन के कोषाध्यक्ष आशीष अग्रवाल ने रेल्वे जोन आंदोलन को याद करते हुए कहा कि बिलासपुर ने हमेशा संघर्ष से सब कुछ हासिल किया है। अब एयरपोर्ट भी कुछ इसी तरह से हासिल होगा। इसलिए हम संघर्ष के लिए तैयार हैं।

            सभा  को संबोधित करते हुये सूर्योदय फिल्म के सुनील दत्त मिश्रा ने कहा कि छत्तीसगढ में खनिज निकालने के लिए तो सरकारे हमेशा तैयार रहती हैं। लेकिन आवागमन की सुविधा के लिए कोई ध्यान नही देती। यदि ऐसा नहीं होता तो अब तक बिलासपुर में अंतरराश्ट्रीय विमानतल होता। मेट्रो स्टूडियों के संचालक ने कहा कि एसोसिएश समिति के साथ है।

                फोटोग्राफर एसोसिएशन बिलासपुर से सुनील चिपडे, मनोज मिश्रा, बसंत साहू, दिनेश लहरे, सुशील कुमार तिवारी, गणेश दास, मनहरण सिंह राजपूत, अशोक राय, फूूलचंद लहरे, मनोज त्रिपाठी, रमेश सूर्या, विरेन्द्र सारथी, श्याम साहू, अमित बेगराय, सहदेव यादव, सोनू मेहरोलिया परमानन्द वैश्णव सिद्धदेश्वर सोनी, दयाराम वर्मा इस दौरान मौजूद थे। धरने में में डाॅ. शंकर यादव, अमित नागदेव,अशोक भण्डारी, नरेश गायकवाड, षेख अल्फाज कप्तान खान, मनोज सिन्हा, सुमित यूके, सोनू, प्रेमदास मानिकपुरी, महेश दुबे-टाटा, विश्वंभर गुलहरे, रामशरण यादव, संजय पिल्ले, देवेन्द्र सिंह, बद्री यादव, सुशांत शुक्ला, कप्तान खान, गोपाल दुबे, कमल सिंह ठाकुर, समीर अहमद, रघुराज सिंह, संजय राजपूत, विरेन्द्र शास्त्री , नवीन वर्मा, अनिल शुक्ला , अमित नागदेव और सुदीप श्रीवास्तव की उपस्थिति विशेष रही।

सुदीप श्रीवस्तव ने बताया कि बिलासपुर के कायस्थ समाज ने भी आंदोलन का समर्थन देने का एलान किया है। इसके अलावा
राज्यसभा सांसद विवेक तन्खा ने सेनाध्यक्ष विपिन रावत से बिलासपुर एयरपोर्ट में सहयोग का अनुरोध किया है।
दूरभाश में मिली जानकारी के मुताबिक कल 29 नवम्बर राज्य सभा सांसद विवेक तन्खा ने सेनाध्यक्ष विपिन रावत से एक निजी मुलाकात में बिलासपुर एयरपोर्ट के लिए सेना के लिये अधिगृहीत की गयी भूमि मे से कुछ हिस्सा देने एवं बिलासपुर में सेना का मिलिट्री सेन्टर प्रारंभ करने का अनुरोध किया। इस पर जनरल विपिन रावत ने सार्थक फैसला लेने की बात कही है।
हवाई सुविधा जन संघर्श समिति
बिलासपुर (छ.ग.)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *