आत्मानंद स्कूल में टीचर बने कलेक्टर,औचक निरीक्षण में पहुंचे कलेक्टर,5 शिक्षकों को नोटिस जारी

मुंगेली। कलेक्टर राहुल देव ने आज जिला मुख्यालय दाऊपारा स्थित स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय का जायजा लिया. उन्होंने यहां शिक्षकों की उपस्थिति, विद्यार्थियों की संख्या सहित स्कूल में आवश्यक मूलभूत सुविधाओं की जानकारी ली. इस दौरान कलेक्टर विद्यालय में शिक्षक की भूमिका में नजर आए और विभिन्न कक्षाओं में पहुंचकर विद्यार्थियों को संबंधित विषय का अध्यापन कराया.कलेक्टर ने बच्चों से चर्चा करते हुए पूछा कि आप लोग भविष्य में क्या बनना चाहते हैं, इस पर बच्चों ने जवाब देते हुए शिक्षक, कलेक्टर, पुलिस, डाॅक्टर, आर्मी आफिसर और इंजीनियर बनने की इच्छा जताई. कलेक्टर ने बच्चों को अपने लक्ष्य को हासिल करने कड़ी मेहनत से मन लगाकर अध्ययन करने के लिए प्रेरित किया. उन्होंने स्कूल में अध्ययन-अध्यापन के संबंध में जानकारी ली. इससे पहले कलेक्टर वहां 11 बजे प्रतिदिन होने वाले प्रेयर में भी शामिल हुए.

कलेक्टर ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की मंशानुरूप विद्यार्थियों को अंग्रेजी माध्यम में उच्च गुणवत्तापूर्ण शिक्षा प्रदान करने जिला मुख्यालय स्थित दाऊपारा मुंगेली में स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय का संचालन किया जा रहा है. इसे सुचारू रूप से संचालित करना जिला प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता है. उन्होंने कहा कि स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय में विद्यार्थियों को शैक्षणिक, खेलकूद, योग सहित अन्य गतिविधियों से जोड़ने के लिए सर्वसुविधायुक्त व्यवस्था की गई है. कलेक्टर ने प्राचार्य को स्वामी आत्मानंद शासकीय उत्कृष्ट अंग्रेजी माध्यम विद्यालय का बेहतर संचालन करने के निर्देश दिए.

कलेक्टर राहुल देव ने आज जिला मुख्यालय स्थित शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय का भी निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने स्कूल में उपस्थिति पंजी का अवलोकन किया और बिना अनुमति के अनुपस्थित पांच शिक्षकों प्रियंका शर्मा, कुमार सिंह धु्रव, विरेश कुमार पाठक, मंजुला विलियम और आशा मिश्रा को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए. उन्होंने स्कूल में कक्षा 11वीं एवं 12वीं की छात्राओं को विषय से संबंधित अध्यापन कराया और रिटेल व्यवसाय के संबंध में अध्ययन कर रहे छात्राओं की नोटशीट का अवलोकन भी किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *