ग्राम सचिवों की बैठक में कलेक्टर ने पूछे सवाल,योजनाओं की जानकारी नहीं रखने वालों पर जताई नाराजगी

जांजगीर-चांपा/ बताइए…. मुख्यमंत्री सुपोषण योजना क्या है?, मुख्यमंत्री हाट बाजार क्लीनिक में क्या होता है?, राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना में कितनी राशि प्रदान की जाती है?, धन्वंतरी योजना क्या है? आपके क्षेत्र में कितने आंगनबाड़ी केन्द्र है?, आंगनबाड़ी केन्द्र में बच्चों और महिलाओं को क्या दिया जाता है?, पटवारी समय पर मुख्यालय में निवास करते है या नहीं? आप लोग मुख्यालय में निवास करते हैं या बाहर से अप-डाऊन करते हैं? कुछ ऐसे ही अलग-अलग सवालों के साथ कलेक्टर श्री तारन प्रकाश सिन्हा ने बलौदा ब्लाक के जनपद कार्यालय में ग्राम सचिवों की बैठक लेकर राज्य शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं की फील्ड पर क्रियान्वयन की जानकारी ली। कलेक्टर ने सभी ग्राम सचिवों को सख्त हिदायत दी कि वे अपने मुख्यालय में रहकर शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं का क्रियान्वयन सुनिश्चित कराएं। बाहर से आना-जाना बंद करें। अन्यथा वेतन काटने सहित अन्य कड़ी कार्रवाई की जाएगी। कलेक्टर ने ग्राम सचिवों को शासन के महत्वपूर्ण योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार करने तथा आमजनता के साथ बेहतर व्यवहार करने के निर्देश देते हुए विभिन्न निर्माणाधीन कार्याें को शीघ्र पूर्ण कराने के निर्देश दिए

ग्राम सचिवों की बैठक लेकर कलेक्टर सिन्हा ने एक सप्ताह के भीतर गांवों के बड़े किसानों को पैरादान के लिए प्रेरित करने, गौठानों में गौठान समितियों के माध्यम से गोबर खरीदी को बढ़ाने और प्रतिदिन कम से कम दो क्विंटल गोबर की खरीदी करने संबंध में निर्देश दिए। उन्होंने खरीदे गए गोबर से वर्मी कम्पोस्ट निर्माण और बिक्री करने, गौठान में पशुपालन, मुर्गीपालन सहित आजीविका के अन्य गतिविधियों को बढ़ाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने गौपालकों को एण्ट्री निर्धारित एप में दर्ज करने तथा गौपालकों को योजनाओं की जानकारी देते हुए गोबर बेचने प्रोत्साहित करने के निर्देश दिए। उन्होंने ग्राम स्तर पर मानस मंडली का पंजीयन चिन्हारी पोर्टल में कराने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर ने गौठानों के आसपास मौजूद तालाबों में मछली पालन को बढ़ावा देने, पंचायत स्तर पर खेल मैदान तैयार करने, सामुदायिक शौचालयों को व्यवस्थित तथा उपयोग के लायक तैयार करने के निर्देश दिए।

उन्होंने महिला स्व सहायता समूह के सदस्यों को विभिन्न सामग्रियों का निर्माण हेतु प्रोत्साहित करने और उनके उत्पादों को सीमार्ट में उपलब्ध कराने के संबंघ में निर्देश दिए। कलेक्टर ने जल जीवन मिशन अंतर्गत कार्याें पर नजर रखते हुए शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने, मुख्यमंत्री सुपोषण योजना अंतर्गत आंगनबड़ी केन्द्रों में वितरित किये जा रहे पोषण आहार, अंडा, फल की जानकारी रखने, पीडीएस में खाद्यान वितरण, धन्वंतरी योजना अंतर्गत कम कीमत पर जेनेरिक दवा उपलब्ध होने की जानकारी ग्रामीणों को देने के निर्देश दिए। उन्होंने किसी भी योजना का लाभ उठाने वाले हितग्राहियों से किसी प्रकार का पैसा लिये जाने की शिकायत सामने आने पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश भी दिए। बैठक में जिला पंचायत सीईओ डॉ ज्योति पटेल, एसडीएम ममता यादव, जनपद सीईओ, तहसीलदार आदि उपस्थित थे।
स/कमलज्योति 01

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *