स्कूलों में कोरोना की एंट्री,बच्चों से लेकर शिक्षक तक संक्रमित

धमतरी।कोरोना का संक्रमण पूरे जिले में तेजी से फैल रहा है। कुछ स्कूलों में भी कोरोना एंट्री हो चुकी है। फिलहाल स्थिति विस्फोटक तो नहीं है। पर संक्रमण के फैलाव के बीच स्कूल लगाना जोखिम भरा माना जा रहा है।गौरतलब है कि 2 दिन के भीतर जिले के 5 स्कूलों में छात्रों और शिक्षकों के पॉजिटिव मिलने का मामला सामने आया है। शुक्रवार को धमतरी के म्युनिसिपल स्कूल की शिक्षिका और कुरूद के स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मध्यम स्कूल की शिक्षिका कोरोना संक्रमित मिली थी।दोनों स्कूलों को सैनिटाइज कर सोमवार और मंगलवार तक के लिए बंद कर दिया गया यह क्रम शनिवार को भी जारी रहा। मॉडल स्कूल में कक्षा सातवीं का छात्र संक्रमित मिला।

इस स्कूल को 2 दिन के लिए बंद किया गया।जालमपुर मिडिल स्कूल में पदस्थ शिक्षक की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद स्कूल को मंगलवार तक के लिए बंद किया गया है। वहीं केंद्रीय विद्यालय में कक्षा दसवीं का छात्र पॉजिटिव मिला यहां दसवीं की कक्षा ऑफलाइन लगाने पर रोक लगाई गई है। दसवीं कक्षा ऑनलाइन लगाने के साथ बाकी क्लास 50% उपस्थिति के साथ लगाई जाएगी। इधर स्कूलों में कोरोना संक्रमित मिलने से पालको की चिंता बढ़ गई है। दरअसल 15 साल से कम उम्र के बच्चों को अब तक वेक्सीन नहीं लगा है।

स्कूल में बच्चे बड़ी संख्या में पहुंचते हैं ऐसे में बच्चों की सुरक्षा को लेकर पेरेंट्स चिंतित नजर आ रहे हैं। जिले में पॉजिटिव केस मिलने के बाद स्थितियां बदलने लगी है कुछ दिन पहले तक लोग कोरोना को लेकर बेफिक्र थे पर अब फिर डर का माहौल दिख रहा है। स्कूल में बच्चों के दूसरे बच्चों के संपर्क मैं आने से करोना की चपेट में आने का खतरा मानते हुए कई पेरेंट्स अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेज रहे हैं। कोरोना को लेकर शासन के द्वारा जारी की गाइडलाइन के मुताबिक जिन जिलों में संक्रमण दर 4% से अधिक होगी।

वहां नाइट कर्फ्यू लगाने के साथ स्कूल तथा आंगनबाड़ी को बंद किया जाएगा।लेकिन धमतरी जिले में अभी संक्रमण दर 4% से कम है इसलिए कोरोना की एंट्री के बावजूद फिलहाल स्कूलों को बंद करने का फैसला नहीं लिया गया है। जिस तेजी से संक्रमण फैल रहा है उसे आशंका जताई जा रही है कि जल्द ही संक्रमण दर 4% से ऊपर हो जाएगी और पाबंदियां कड़ी होंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *