VIDEO-कार्यालय में घुसकर महिलाओं का उत्पात..SDM से गाली गलौच..महिलाओं ने तोड़ी मर्यादा…घटना कैमरे में कैद..मुरूम माफिया के इशारे पर हुई वारदात

बिलासपुर—- रसूखदारों के ईशारे पर जिले की बाहर से बुलायी गयी कुछ महिला और पुरूषों ने मुंगेली एसडीएम कार्यालय में जमकर हंगामा किया है। एसडीएम के साथ गाली गलौच भी की है। मामले में एसडीएम नवीन कुमार भगत ने महिलाओं और पुरूषों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया है। शिकायत में एसडीएम ने बताया कि महिलाएं और उनके साथियों ने सरकारी काम में बाधा पहुंचाने के साथ भृत्य के साथ मारपीट और धक्कामुक्की को अंजाम दिया है।

                     सोमवार दोपहर करीब चार बजे के आसपास कुछ महिलाएं और पुरूषों ने एसडीएम कार्यालय में घुसकर जमकर उत्पात मचाया है। इस दौरान महिलाओं ने एसडीएम के काम काज में ना केवल बाधा पहुंचाने का काम किया। बल्कि नवीन कुमार भगत के साथ गाली गलौच भी की है। साथ ही एसडीएम पर सभी लोग मिलकर कार्यालय में ही चोट पहुंचाने का प्रयास किया है। इतना ही नहीं बीच बचाव करने पहुंचे भृत्य के साथ मारपीट को अंजाम दिया गया है।

                            घटना क्रम के बाद एसडीएम नवीन कुमार भगत ने थाना में नामजद रिपोर्ट दर्ज कराया है। अपनी रिपोर्ट में नवीन कुमार भगत ने बताया कि महिलाएं और उनके साथियों ने कार्यालय में घुसकर शासकीय कामकाज में बाधा पहुंचाया है। मांगी गयी जानकारी दिए जाने के बाद भी महिलाओं के साथ उनके साथ पुरूषों ने जमकर गाली गलौच किया। साथ ही हमला का भी प्रयास किया है। भृत्य के साथ मारपीट भी किया गया है। 

                                  एसडीएम की शिकायत के बाद पुलिस ने ईशा टण्डन, नीतू  परिहार, जितेन्द्र परिहार और गौरव वर्मा के खिलाफ आईपीसी की धारा 186, 353, 294 और 34 के तहत अपराध दर्ज किया है।

 सभी लोग बाहरी, गौरव वर्मा का इशारा

               घटना क्रम को लेकर एसडीएम नवीन कुमार भगत ने बताया कि चार महिलाए और गौरव वर्मा समेत कुछ लोग दनदनाते कार्यालय में घुसे। उस समय शासकीय काम में व्यस्त था। सभी भृत्य के साथ पहले तो अभद्र व्यवहार किया। मामले को किसी तरह शांत कराया। ईशा टण्डन नीतू परिहार जितेन्द्र परिहार और गौरव ने बिरगहनी सरपंच को हटाने को लेकर जानकारी मांगी। इस दौरान समझाया कि बिरगहनी सरपंच के खिलाफ नियमानुसार प्रक्रिया के तहत अविश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा। कलेक्टर के आदेश पर कार्रवाई की जाएगी।

                    इतना सुनते ही महिलाओं के साथ जितेन्द्र और गौरव ने गाली गलौच करना शुरू कर दिया। जान से मारने की धमकी देने लगे। इसी दौरान बीच बचाव करने पहुंचे भृत्य को कालर पकड़कर मारा और धक्का मुक्की भी की।

क्या है मामला

             दरअसल कुछ लोग जिसमें गौरव वर्मा समेत उत्पात मचाने वाली महिलाएं बिरगहनी सरपंच को हटाने की मांग कर रहे हैं। मामला हाईकोर्ट में गया। हाईकोर्ट के निर्देश के बाद बिरगहनी में अविश्वास प्रस्ताव लाया जाना है। बिरगहनी सरपंच को हटाने को लेकर दबाव बनाने लोग भीड़ में एसडीएम कार्यालय पहुंचे। और घटना को अंजाम दिया।

सभी लोग बाहरी

                  एसडीएम कार्यालय के कर्मचारियों ने बताया कि सभी महिलाएं आसरा फाउण्डेशन महासमुंद की है। इनका मुंगेली से कोई लेना देना नहीं है। महिलाएं गौरव वर्मा के इशारे पर एसडीएम कार्यालय पहुंचकर बलात दबाव बनाने का प्रयास किया है।

 खनिज उत्खनन का मामला

                 सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पथरिया मोड़ स्थित बिरगहनी गांव में मुरूम का खजाना है। मुरूम खजाने पर उत्खनन माफियों की हमेशा आंख लगी रहती है। वर्तमान बिरगहनी सरपंच मुरूम माफियों को उत्खनन के लिए मना किया है। यही कारण है कि मुरूम माफिया सरपंच को हटाने के लिए साम दण्ड भेद की नीति अपनानते हुए प्रशासन पर दबाव बना रहे हैं। जब स्थानीय लोगों का समर्थन नहीं मिला तो महासमुंद की आसरा फाण्डेशन की महिलाओं को बुलाकर एसडीएम कार्यालय में उत्पात मचाया। अविश्वास प्रस्ताव लाने के लिए दबाव बनाने एसडीएम के साथ गाली गलौच भी करने से गुरेज नहीं किया।

बिलासपुर के हैं मुरूम माफिया 

            बताते चलें कि इस पूरे प्रकरण में बिलासपुर के एक मुरूम  माफिया का सीधा हाथ है। लोगों ने बताया कि वह बहुत बड़ा बिल्डर है। उसी के इशारे पर सरपंच को हटाने के लिए महिलाओं को महासमुंद से बुलाया गया है।

Tags:,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *