छत्तीसगढ़ के सरकारी कर्मचारियों को मिलेगी सातवें वेतनमान के एरियर्स की तीसरी किस्त ,होली से पहले सरकार ने किया ऐलान

samaj kalyan vibhag,samaj kalyan,samaj kalyan vibhag,Social Welfare Department Recruitment 2019

रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार ने अपने कर्मचारियों के लिए होली के पहले एक बड़ी सौगात का ऐलान किया है। सरकारी कर्मचारियों को सातवें वेतनमान के एरियर की तीसरी किस्त का भुगतान किया जाएगा। इस आदेश के तहत कर्मचारियों को 1 जुलाई 2016 से 30 सितंबर 20 16 तक के लिए एरिया की तीसरी किस्त का भुगतान किया जा रहा है । जिससे करीब 360 करोड़ का व्यय भार शासन पर आएगा और इससे राज्य के 1 लाख 81  हजार से अधिक कर्मचारी लाभान्वित होंगे।

छत्तीसगढ़ के सरकारी कर्मचारियों को सातवें वेतनमान का लाभ मिल रहा है। लेकिन एरियर्स की किस्त का भुगतान बचा हुआ है। एरियर्स की राशि का भुगतान करने की मांग पिछले काफी समय से की जा रही थी। कर्मचारियों को छत्तीसगढ़ सरकार ने होली के पहले इसकी सौगात दी है। जिसके तहत अब कर्मचारियों को एरियर का भुगतान किया जाएगा। इस संबंध में आदेश जारी कर दिए गए हैं। आदेश में कहा गया है कि राज्य के शासकीय सेवकों को छत्तीसगढ़ पुनरीक्षण नियम 2017 ( सातवां वेतनमान ) का लाभ 1 जनवरी 2016 से प्रभाव सील किया गया और 1 जुलाई 2017 से नगद भुगतान किया गया। 1 जनवरी 2016 से 30 जून 2017 तक के 8 माह की बकाया एरियर की राशि को छ: किश्तों में भुगतान किए जाने का फैसला किया गया था। राज्य शासन द्वारा 1 जनवरी 2016 से 31 मार्च 2016 तक की पहली किस्त की राशि 344 करोड का भुगतान 8 अगस्त 2018 को और 1 अप्रैल 2016 से 30 जून 2016 तक दूसरी किस्त की राशि 356 करोड़ का भुगतान 4 अक्टूबर 2019 को किया जा चुका है। इस प्रकार पहली और दूसरी किस्त के रूप में राज्य के 1 लाख 81 हजार सरकारी कर्मचारियों को 700 करोड का भुगतान किया जा चुका है।

शासन की ओर से कहा गया है कि कोविड-19 आपदा के कारण आर्थिक गतिविधियों के प्रभावित होने से राज्य शासन द्वारा किए गए मितव्ययिता उपायों के फलस्वरूप एरियर्स की तीसरी किस्त का भुगतान पिछले साल नहीं किया जा सका था। प्रदेश में आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए राज्य शासन द्वारा किए जा रहे सतत उपायों के अनुक्रम में अब एक जुलाई 2016 से 30 सितंबर 2016 तक के लिए एरियर्स की तीसरी किस्त की राशि का भुगतान किए जाने का निर्णय लिया गया है ।इस पर लगभग 360 करोड का व्ययभार अनुमानित है। इससे राज्य के 1 लाख 81 हजार से अधिक शासकीय सेवक लाभान्वित होंगे।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *