Chhattisgarh में कैसे पचास का आंकड़ा पार कर सकती है कांग्रेस…? सरगुजा,बिलासपुर,रायपुर,दुर्ग और बस्तर की सीटों का क्या है अनुमान..?

Shri Mi
6 Min Read

Chhattisgarh विधानसभा के चुनाव में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभर कर सामने आ सकती है। इस चुनाव को लेकर तमाम संस्थाओं की ओर से जारी एग्जिट पोल के नतीजा संकेत दे रहे हैं कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बढ़त मिल रही है। इस दौरान सीजीवाल ने जानी-मानी संस्था फोर्थ डाइमेंशन के सहयोग से जनमत को समझने की कोशिश की थी। इसकी रिपोर्ट भी बता रही है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को ही अधिक सीटें मिल सकती हैं।

इसके मुताबिक Chhattisgarh की 90 सीटों में से 42 में कांग्रेस को बढ़त मिल सकती है। बीजेपी को 15 सीटों पर बढ़त का अनुमान है। 33 सीटें ऐसी हैं, जिनमें टक्कर की स्थिति है । लेकिन यदि इनमें से करीब आधी सीटें भी कांग्रेस जीतती है तो वह 50 सीटों से अधिक का आंकड़ा पार कर सकती है।

गुरुवार की शाम पांच विधानसभा चुनावों के एग्जिट पोल सामने आ गए। जिसमें करीब सभी संस्थाओं ने छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बढ़त मिलने का अनुमान सामने रखा है। छत्तीसगढ़ के चुनाव में सीजीवाल ने फोर्थ डाइमेंशन के सहयोग से जनमत को समझने की कोशिश की थी। इसके मुताबिक भी छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को 42 सीटों पर बढ़त मिलती दिखाई दे रही है। बीजेपी 15 सीटों पर आगे दिख रही है। 33 सीटें ऐसी हैं, जहां करीबी मुकाबला है। अनुमान है कि इसमें से करीब आधी यानी करीब 15 सीटों पर कांग्रेस को बढ़त मिल सकती है। ऐसी स्थिति में कांग्रेस का आंकड़ा 50 पार कर सकता है।

इस नजरिए से देखें तो सरगुजा संभाग की 14 सीटों में इस बार कांग्रेस 2018 के नतीजे दोहराने की स्थिति में नजर नहीं आ रही है। 2018 में सरगुजा संभाग की सभी सीटों पर कांग्रेस को जीत हासिल हुई थी। लेकिन इस बार कांग्रेस की स्थिति चार सीटों पर ही स्पष्ट दिखाई दे रही है । जिनमें लुंड्रा, अंबिकापुर, जशपुर और कुनकुरी शामिल है। दूसरी तरफ भाजपा की स्थिति भरतपुर सोनहत, बैकुंठपुर, रामानुजगंज और सीतापुर में मजबूत दिखाई दे रही है। जबकि मनेद्रगढ़ ,प्रेम नगर, भटगांव, प्रतापपुर, सामरी और पत्थलगांव सीट पर कांटे का मुकाबला नजर आ रहा है।

रायगढ़ इलाके की पांच सीटों में से तीन सीट सारंगढ़, खरसिया और धरमजयगढ़ में कांग्रेस की स्थिति मजबूत दिख रही है। रायगढ़ में भाजपा मजबूत नजर आ रही है। जबकि लैलूंगा सीट पर कांटे की टक्कर दिखाई दे रही है कोरबा इलाके में चार सीटे हैं जिनमें कोरबा, कटघोरा में कांग्रेस बेहतर स्थिति में है । जबकि रामपुर और पाली तानाखार में टक्कर की स्थिति दिखाई दे रही है इधर मरवाही विधानसभा सीट में भी कांटे का मुकाबला है। जबकि बिलासपुर- मुंगेली इलाके की 8 सीटों में से कोटा, तखतपुर, बिल्हा में कांग्रेस की स्थिति मजबूत नजर आ रही है। दूसरी तरफ लोरमी, मुंगेली, बिलासपुर में भाजपा मजबूत दिखाई दे रही है ।इस इलाके में बेलतरा और मस्तूरी सीट में कांटे की टक्कर नजर आ रही है ।

जांजगीर इलाके में की 6 सीटों में से सक्ती, चंद्रपुर और जैजैपुर में कांग्रेस की स्थिति मजबूत नजर आ रही है । जबकि अकलतरा, जांजगीर और पामगढ़ में कांटे का मुकाबला दिखाई दे रहा है । रायपुर डिवीजन में 20 सीटों में सरायपाली, खल्लारी, महासमुंद बलौदा बाजार, धरसीवा, आरंग, राजिम, बिंद्रा नवागढ़, सिहावा, कुरूद में कांग्रेस की स्थिति मजबूत नजर आ रही है। वही रायपुर पश्चिम, रायपुर दक्षिण और धमतरी में भाजपा मजबूत स्थिति में नजर आती है। जबकि बसना, बिलाईगढ़, कसडोल, भाटापारा, रायपुर ग्रामीण, रायपुर उत्तर, अभनपुर में मुकाबला करीबी नजर आता है।

दुर्ग संभाग की 20 सीटों में से कांग्रेस डौंडी लोहारा, गुंडरदेही, पाटन, दुर्ग ग्रामीण, भिलाई नगर, बेमेतरा, नवागढ़ कवर्धा, खैरागढ़, डोंगरगढ़, डोंगरगांव और खुज्जी में मजबूत स्थिति में नजर आ रही है। इस इलाके में वैशाली नगर, राजनांदगांव में भाजपा की स्थिति बेहतर है। जबकि संजारी बालोद, दुर्ग शहर, अहिवारा, साजा, पंडरिया और मोहला – मानपुर में कांटे की टक्कर दिखाई दे रही है।

बस्तर की 12 सीटों में से कांग्रेस की स्थिति भानु प्रतापपुर, कांकेर, केशकाल, बस्तर और बीजापुर में मजबूत नजर आ रही है। इस इलाके में कोंडागांव, नारायणपुर में भाजपा की स्थिति मजबूत दिखाई देती है। जबकि अंतागढ़, जगदलपुर. चित्रकोट, दंतेवाड़ा और कोंटा सीट में कांटे का मुकाबला नजर आ रहा है।

अनुमान है कि जिन विधानसभा सीटों में कड़ा मुकाबला नजर आ रहा है वहां करीब आधी – आधी सीटें कांग्रेस और भाजपा के बीच बंट सकती हैं। ऐसी सूरत में कम से कम 10 सीटों पर भी जीत हासिल करने की स्थिति में कांग्रेस 50 का आंकड़ा पार कर सकती है।

दूसरी तरफ़ बीजेपी कड़े मुक़ाबले वाली सीटों पर अगर 10 सीटों पर भी जीत हासिल करती है तो वह पचीस से तीस सीटों पर पहुंच सकती है। त्रिकोणीय मुकाबले वाली सीट पाली तानाखार,मरवाही,मस्तूरी, पामगढ़, बिलाईगढ़, संजारी – बालोद में अन्य पार्टी भी बढ़त हासिल कर सकती है। एग्जिट पोल के रुझान सामने आने के बाद अब सभी की नजर 3 दिसंबर को होने वाले मतगणना पर टिकी है। जिसके बाद पूरी तस्वीर सामने आ जाएगी।


TAGGED:
Leave a comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

close