भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड को 4 विकेट से परास्त कर विश्व कप जीता

वेस्टइंडीज में एंटीगुआ के विवियन रिचर्ड्स ग्राउंड पर भारत की अंडर-19 क्रिकेट टीम ने इंग्लैंड को 4 विकेट से परास्त कर रिकॉर्ड 5 वीं बार विश्व कप जीता।कल देर रात खेले गए रोमांचक फाइनल मैच में भारतीय अंडर-19 क्रिकेट टीम ने अपनी धाक कायम रखते हुए इंग्लैंड की क्रिकेट टीम को 4 विकेट से परास्त किया। इंग्लैंड के कप्तान ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का निर्णय किया जिस को गलत साबित करते हुए भारत के बाएं हाथ के तेज गेंदबाज रवि कुमार ने शुरुआत में ही 3 विकेट झटक कर इंग्लैंड टीम को संकट में ला दिया। इसके पश्चात कुल 61 रनों पर 6 विकेट गवांकर इंग्लैंड फाइनल मैच की प्रतिष्ठा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाई एवं नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे. सिर्फ सलामी बल्लेबाज जेम्स रयू एक छोर से संघर्ष करते हुए 95 रन बनाने में सफल हुए.अन्य कोई भी बल्लेबाज भारतीय गेंदबाजों का प्रतिरोध नहीं कर सका.मुकाबले के दौरान भारतीय फील्डर्स ने शानदार क्षेत्ररक्षण का नमूना पेश किया. इसी कड़ी में कौशल तांबे ने दाएं हाथ से एक बेहद शानदार कैच लपका.

भारतीय गेंदबाज आज बाबा की घातक गेंदबाजी(31/5) से इंग्लैंड का मध्यक्रम पूरी तरह से चरमरा गया, अंत में इंग्लैंड की पारी 44.5ओवरों 189 रनों पर सिमट गई। भारत की ओर से बाएं हाथ के तेज गेंदबाज रवि कुमार 34 पर 4 एवं राज बाबा ने 31 रन देकर 5 विकेट लेने में सफल रहे। इस प्रकार भारत को 50 निर्धारित ओवरों में 190 रन का विजय लक्ष्य प्राप्त हुआ।190 रन के निर्धारित लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम की शुरुआत भी बेहद खराब रही जब सलामी बल्लेबाज 0 के स्कोर पर अपना विकेट गवांकर पवेलियन लौट गए।

कुछ देर लगा इंग्लैंड ने कर ली वापसी
इसके पश्चात शाईक रशीद(50) एवं कप्तान यश ढूल (17) ने संभलकर खेलते हुए टीम के स्कोर को आगे बढ़ाया, तभी एक आसान जीत को अग्रसर टीम उस वक्त संकट में गिरती नजर आई जब लगातार दो ओवरों में भारतीय टीम ने शाइक रशीद 50 रन एवं कप्तानी अर्जुन 17 रन के निजी स्कोर पर आउट हो गए। कुछ पल ऐसा लगा इंग्लैंड ने फाइनल मैच की प्रतिष्ठा के अनुरूप वापसी कर ली है, किंतु राज बावा 35 रन एवं निशांत सिंधु के नाबाद 50 रनों की सहायता से भारत ने 190 रनों का निर्धारित लक्ष्य 47.4 ओवरों में प्राप्त करते हुए 4 विकेट से अपनी जीत दर्ज करने मैं सफलता प्राप्त की.

मैन ऑफ द मैच राज बावा
मैन ऑफ द मैच अपने ऑलराउंड प्रदर्शन के लिए राज बावा को दिया गया जिन्होंने पहले शानदार गेंदबाजी करते हुए 31 रन देकर पांच विकेट लिए तथा 35 रन की आक्रामक एवं मैच जिताऊ पारी खेली। टूर्नामेंट के लिए मैन ऑफ द सीरीज का खिताब डी ब्रेविस साउथ अफ्रीका को दिया गया जिन्होंने पूरे टूर्नामेंट में सर्वाधिक 500 से अधिक रन बनाए। उल्लेखनीय है कि इस विश्वकप में सर्वाधिक 336 से अधिक छक्के लगाने का रिकॉर्ड भी बना जो नई पीढ़ी के बल्लेबाजों की आक्रामकता को प्रदर्शित करता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *