हमार छ्त्तीसगढ़

TS Singhdeo बोले -ये अति हो रहा है कि कंगना रनौत और कई लोग PM Modi को भगवान विष्णु का अवतार बता रहे हैं

छत्तीसगढ़ के पूर्व डिप्टी सीएम और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता टीएस सिंह देव (TS Singhdeo) ने बातचीत में कई मुद्दों पर खुलकर अपनी बात रखी। उन्होंने राम मंदिर पर भाजपा के हमले का भी जवाब दिया।टीएस सिंह देव (TS Singhdeo) ने राम मंदिर को लेकर भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने रामलला के प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को भाजपा द्वारा प्रायोजित बताया। साथ ही उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में पूरा फोकस पीएम मोदी पर ही था।

Join Our WhatsApp Group Join Now

रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का निमंत्रण कांग्रेस द्वारा ठुकराने के आईएएनएस के सवाल पर कांग्रेस नेता टीएस सिंह देव ने कहा कि जब धर्म और भगवान राम की बात हो रही है तो ये अति हो रहा है कि लोग पीएम मोदी को भगवान विष्णु का अवतार बता रहे हैं।इस दौरान टीएस सिंह देव ने बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि भाजपा ने मंडी लोकसभा सीट से फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत को टिकट दिया है, जब भी वह अपने भाषण की शुरुआत करती हैं तो कभी पीएम मोदी को विष्णु का अवतार, तो कभी भगवान शिव का अवतार कहती हैं। यहीं से उनका चुनावी प्रचार शुरू होता है। देश में आजकल क्या-क्या हो रहा है?

उन्होंने आगे कहा कि राम मंदिर का उद्घाटन ना तो शुभ मुहूर्त में हुआ और ना ही अधूरे मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होनी चाहिए थी। सनातन और ग्रंथों के अनुसार भी ऐसा नहीं हो सकता है। वैसे आप एक बड़ा इवेंट आयोजित कर रहे हैं। जिसमें आपने किसको-किसको बुलाया। जिस तरह से देश की राष्ट्रपति दौपद्री मुर्मू के हाथों नई संसद का उद्घाटन नहीं करवाया। ठीक वैसे ही अयोध्या में राम मंदिर का उद्घाटन और रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का न्योता ना देकर उनका अपमान किया है।

यह एकमात्र इवेंट था, जिसमें सबने देखा कि 90 प्रतिशत कैमरा पीएम मोदी पर फोकस था। ये देखकर बहुत दुख होता है कि देश में आखिर क्या हो रहा है? अगर हम भगवान राम की भावना से प्रेरित होकर इस कार्य को कर रहे थे, तो कैमरा रामलला की मूर्ति पर होना चाहिए था और रामलला की मूर्ति पर कैमरा केंद्रित करके 2 से 4 प्रतिशत कार्यक्रम में शामिल लोग, चाहे पीएम मोदी हों या सीएम योगी आदित्यनाथ और कुछ महंत, उन पर होना चाहिए था। वैसे कार्यक्रम में लगे कैमरे में किसको फॉलो किया जा रहा था। भाजपा ने रामलला की प्राण प्रतिष्ठा को राजनीतिक इवेंट बना दिया और कार्यक्रम में अन्य लोगों को ना बुलाकर राम जी का अपमान किया है।

TS Singhdeo ने कहा कि मैंने राम मंदिर के उद्घाटन से पहले रामलला की फोटो देखी। मैं उन फोटो को देखकर बहुत ज्यादा दुखी हुआ था कि पीएम मोदी भगवान राम को हाथ पकड़कर चला रहे हैं और लोगों के पास ये फोटो जा रही है।

उनका कोई रिएक्शन नहीं है, सबने चुप्पी साध रखी है। किसी को इस बात का एहसास नहीं है कि हम भगवान राम को चलाकर ले जा रहे हैं। शायद मैं यह सब कुछ पहली बार राम मंदिर के उद्घाटन को लेकर बोल रहा हूं कि मुझे ये देखकर बहुत तकलीफ हुई। मेरे पिता के जन्म के समय उस वक्त छत्तीसगढ़ के सरगुजा के महाराज रामानुज शरण सिंह देव ने भगवान राम का एक मंदिर बनवाया था और मेरे माता-पिता ने उस मंदिर को बाबा जी को समर्पित कर दिया था। आज भी यही परंपरा है कि बाबा जी और उनके दो अनुयायी हैं, वो उस राम मंदिर की देखभाल करते हैं। इतना ही नहीं रामनवमी के दिन परिवार के व्यक्ति को ही बुलाकर पाठ खुलवाते हैं। मान लीजिए बाबाजी ने हमें सम्मान दे दिया कि आप और आपका परिवार राम जी का पाठ खोलने के लिए आ जाएं। लेकिन, अयोध्या में क्या हो रहा था, एक प्रायोजित प्रोग्राम, जिसमें एक व्यक्ति और पार्टी को प्रमोट करने के लिए सब कुछ किया गया था।

                   

Shri Mi

पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
Back to top button
close