पढ़ना-लिखना अभियान:असाक्षरों का सर्वे और डाटा एन्ट्री 22 जनवरी तक पूर्ण करने के निर्देश

रायपुर।राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण के संचालक डी. राहुल वेंकट ने आज मंत्रालय में वीडियों कान्फ्रेसिंग के जरिए राज्य के सभी जिलों के जिला शिक्षा अधिकारी, डाइट के प्राचार्य और जिला परियोजना अधिकारियों को निर्देशित किया कि पढ़ना-लिखना अभियान अंतर्गत प्रदेशव्यापी चिन्हांकित विकासखण्ड के ग्राम पंचायतों एवं नगरीय निकाय वार्डों में दिए गए लक्ष्य अनुरूप असाक्षरों और स्वयंसेवी शिक्षकों का चयन पूर्ण कर पोर्टल में प्रविष्टि करें। ध्यान रखें कि 22 जनवरी तक सर्वे एवं डाटा एंट्री कार्य पूर्ण कर लिया जाए। बैठक में राज्य साक्षरता मिशन प्राधिकरण के सहायक संचालक प्रशांत कुमार पाण्डेय व दिनेश कुमार टांक उपस्थित थे।

संचालक वेंकट ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के दौरान कहा कि मैचिंग-बैचिंग द्वारा असाक्षरों व स्वयंसेवी शिक्षकों का चिन्हांकन कार्य पूर्ण कर लें। अभियान में प्रदेश स्तर पर सर्वे और डाटा प्रविष्टि की स्थिति, पोर्टल एप निर्माण, जिलों में प्रशासनिक कार्य की स्थिति, विकासखण्ड में ग्राम पंचायत प्रभारी और नगरीय निकाय के वार्ड प्रभारियों की नियुक्ति, प्रशिक्षण तथा साक्षरता केन्द्र की तैयारियों की समीक्षा की गई। बैठक में उपस्थित संबंधित अधिकारियों को समय-सीमा में कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए गए।

बैठक में संचालक द्वारा प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारी, प्राचार्य डाइट एवं जिला परियोजना अधिकारी को निर्देश दिया कि अब साक्षरता कक्षा प्रांरभ करने की तैयारियाँ पूर्ण कर ली जाए। उन्होंने कहा कि अब हमारे सामने दो माह के भीतर ढ़ाई लाख असाक्षरों को साक्षर करने का लक्ष्य है। अब तक अभियान के सफल क्रियान्वयन हेतु राज्य स्तरीय स्रोत व्यक्तियों के लिए सामग्री निर्माण कार्यशाला, स्रोत व्यक्तियों का प्रशिक्षण और उन्मुखीकरण कार्य पूर्ण कर लिया गया हैं। साथ ही मैचिंग-बैचिंग द्वारा असाक्षरों और स्वयंसेवी शिक्षकों का चिन्हांकन कार्य अंतिम पड़ाव पर है। साक्षरता पाठ आधारित पठन-पाठन एवं मार्गदर्शिका को पीपीटी और वीडियो मोड पर निर्माण कार्य पूर्ण कर लिया गया है, जिसके लिए एससीईआरटी का विशेष सहयोग प्राप्त हो रहा है। सभी के लिए स्वयंसेवी शिक्षकों द्वारा असाक्षरो को निःशुल्क पढ़ाया जाना एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी के साथ-साथ चुनौतिपूर्ण कार्य भी है। प्रदेश में अभियान अंतर्गत साक्षरता कक्षा, मोहल्ला कक्षा अतिशीघ्र प्रारंभ करने की कवायद जारी है।

पढ़ना-लिखना अभियान के नोडल अधिकारी प्रशांत कुमार पाण्डेय ने अभियान से जुड़े समस्त गतिविधियों की जानकारी दी। उन्होंने अब तक हुए प्रशिक्षण, कार्यशाला व उन्मुखीकरण कार्यक्रम से अवगत कराते हुए आगामी स्वयंसेवी शिक्षको के प्रशिक्षण की वास्तविकता से उपस्थितजनों को बोध कराया। श्री पाण्डेय ने कहा कि सभी के सहयोग से प्रदेश स्तर पर यह अभियान अपने निश्चित लक्ष्य की ओर बढ़ रहा है। स्वयंसेवी शिक्षक प्रशिक्षण का आयोजन माह जनवरी के अंतिम सप्ताह में प्रस्तावित है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *