Kartik Purnima : बेहद खास है इस बार कार्तिक पूर्णिमा, करें राशि के अनुसार स्नान-दान, इन उपायों से बरसेगा धन

Shri Mi
5 Min Read

Kartik Purnima : 27 नवंबर यानी सोमवार को कार्तिक पूर्णिमा है। कार्तिक पूर्णिमा पर मां लक्ष्मी, चंद्रमा और विष्णु भगवान की आराधना की जाती है। अगर आप आर्थिक समस्याओं से जूझ रहे हैं और भाग्य का साथ नहीं मिल रहा है तो कार्तिक पूर्णिमा के दिन पूरे विधि-विधान के साथ भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की साथ में विधिवत पूजा करें।

मान्यता है इस दिन कुछ उपाय कर लेने से घर की सुख-समृद्धि में वृद्धि होती है और दरिद्रता से भी राहत मिलती है।

पूर्णिमा तिथि की शुरुआत 26 नवंबर दोपहर 03.53 मिनट से शुरू होकर 27 नवंबर को दोपहर 02.45 मिनट तक है। कार्तिक की पूर्णिमा के दिन पवित्र नदियों में स्नान करने से विशेष पुण्य प्राप्त होता है। उस दिन आप अपनी राशि के अनुसार शुभ वस्तुओं का दान करने से अच्छा लाभ मिलता है। आइए जानते हैं ज्योविष के मुताबिक कार्तिक पूर्णिमा पर राशि के अनुसार वस्तुओं का दान करें

यह भी पढ़े

Kartik Purnima/कार्तिक पूर्णिमा राशि के अनुसार इन वस्तुओं का दान करें

मेष: कार्तिक पूर्णिमा को स्नान के लाल वस्त्र, तांबे के बर्तन, केसर आदि का दान करना चाहिए। आकी राशि का स्वामी ग्रह मंगल है।

वृष: इस राशि के लोगों को कार्तिक पूर्णिमा के दिन स्नान के बाद सफेद वस्त्र, चांदी, चांदी के आभूषण, घी, इत्र, सौंदर्य प्रशाधन की वस्तुएं आदि दान करनी चाहिए। आपकी राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है।

मिथुन: आपकी राशि का स्वामी ग्रह बुध है, इसलिए आपकी राशि के जातक कार्तिक पूर्णिमा पर हरे कपड़े, हरे फल, पन्ना, कांसे के बर्तन आदि का दान कर सकते हैं।

कर्क: इस राशि का स्वामी ग्रह चंद्रमा है। कार्तिक पूर्णिमा स्नान के बाद चावल, दूध, शक्कर, सफेद कपड़े आदि का दान करना चाहिए। इससे लाभ मिलेगा।

सिंह: कार्तिक पूर्णिमा को स्नान करने के बाद सिंह राशिवाले लोग लाल या नारंगी रंग के कपड़े, मूंगा, केसर, तांबा, घी आदि का दान कर सकते हैं। आपकी राशि के स्वामी सूर्य देव हैं।

कन्या: मिथुन की तरह आपकी भी राशि के स्वामी ग्रह बुध हैं। आप भी कार्तिक पूर्णिमा स्नान के बाद हरे कपड़े, हरे फल, पन्ना, कांसे के बर्तन आदि दान कर सकते है।

तुला: वृष के समान ही आपकी राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है। आप कार्तिक पूर्णिमा को मोती, घी, इत्र, सफेद वस्त्र, हीरा आदि वस्तुओं का दान कर सकते हैं।

वृश्चिक: इस राशि के स्वामी ग्रह मंगल हैं। शुभ रंग लाल है। इस राशि के लोगों को कार्तिक ​पूर्णिमा पर कस्तूरी, केसर, लाल कपड़ा, तांबा, भूमि आदि का दान करना चा​हिए।

धनु: देव गुरु बृहस्पति आपकी राशि के स्वामी ग्रह हैं। आप कार्तिक पूर्णिमा को स्नान करने के बाद पीले रंग का वस्त्र, हल्दी, सोना, पीतल की वस्तुएं, पुस्तक आदि का दान कर सकते हैं।

मकर और कुंभ: इन दोनों ही राशियों के स्वामी ग्रह शनि हैं। कार्तिक पूर्णिमा को स्नान के बाद काला तिल, कंबल, काला या नीला वस्त्र, गर्म कपड़े, लोहा, स्टील के बर्तन आदि का दान करना चाहिए।

मीन: इस राशि के लोगों को भी पीले रंग का वस्त्र, हल्दी, सोना, पीतल की वस्तुएं, पुस्तक आदि वस्तुएं दान करनी चाहिए क्योंकि आपकी राशि के भी स्वामी ग्रह बृहस्पति देव हैं।

कार्तिक पूर्णिमा मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने के उपाय-

कार्तिक पूर्णिमा के दिन माता लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए और घर में उनका वास बनाए रखने के लिए घर के मुख्य द्वार पर तोरण लगाना चाहिए। आम के पत्तों और फूलों का ताजा तोरण बनाकर घर के मुख्य द्वार पर लगाना बेहद शुभ रहेगा।

आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने और माता लक्ष्मी को प्रसन्न करने के लिए कार्तिक पूर्णिमा के दिन दूध से बनी खीर का भोग माता को लगाएं।

कार्तिक पूर्णिमा के दिन मुख्य तौर पर पीपल के पेड़ की पूजा की जाती है। मान्यता है की पूर्णिमा के दिन पीपल पेड़ की पूजा करने से मां लक्ष्मी की कृपा सदैव बनी रहती है। इसलिए पीपल के पेड़ में जल व दूध चढ़ाएं और घी का दीपक जलाएं।

पूर्णिमा के दिन पूरे विधि विधान से मां तुलसी की पूजा अर्चना की जानी चाहिए। मान्यता है कि तुलसी जी में मां लक्ष्मी वास करती हैं। इसलिए कार्तिक पूर्णिमा के दिन सुबह और शाम तुलसी के पेड़ के नीचे घी का दीपक जलाएं और सुबह के समय उन्हें अर्घ देकर पूजा करें।

यह भी पढ़े
TAGGED:
By Shri Mi
Follow:
पत्रकारिता में 8 वर्षों से सक्रिय, इलेक्ट्रानिक से लेकर डिजिटल मीडिया तक का अनुभव, सीखने की लालसा के साथ राजनैतिक खबरों पर पैनी नजर
close