जानिए कौन है रंजीत रंजन ? जिन्हें कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ से बनाया है अपना राज्यसभा उम्मीदवार

बिलासपुर।कांग्रेस ने राज्यसभा चुनाव के लिए 10 प्रत्याशियों के नाम की घोषणा कर दी है. छत्तीसगढ़ से राजीव शुक्ला और रंजीत रंजन को राज्यसभा प्रत्याशी बनाया गया है. कांग्रेस के जनरल सेक्रेटरी मुकुल वासनिक ने लिस्ट जारी किया है. बता दें कि राजीव शुक्ला कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं. वहीं रंजीत रंजन बिहार के बाहुबली नेता पप्पू यादव की पत्नी हैं. मधेपुरा के पूर्व सांसद व जनअधिकार पार्टी (जाप) के अध्यक्ष पप्पू यादव की पत्नी को कांग्रेस राज्यसभा भेजेगी। छत्तीसगढ़ से कांग्रेस ने रंजीत रंजन को राज्यसभा का टिकट दिया है। रंजीत रंजन लोकसभा सांसद रह चुकी हैं। इस बार दोनों बाहरी उम्मीदवारों को यहां से मौका दिया गया है। छत्तीसगढ़ से कांग्रेस वरिष्ठ नेता राजीव शुक्ला और पूर्व लोकसभा सांसद रंजीत रंजन को राज्यसभा भेज रही है। दोनों बाहरी हैं।

राजीव शुक्ला कांग्रेस के वरिष्ठ नेता हैं। उन्हें पार्टी फिर से राज्यसभा भेजने का फैसला किया है। वहीं, बिहार के सुपौल से लोकसभा सांसद रहीं रंजीत रंजन को पार्टी को छत्तीसगढ़ से राज्यसभा भेज रही है। रंजीत रंजन 2019 के लोकसभा चुनाव में हार गई थीं। वह मुखर होकर पार्टी की बात सदन में रखती हैं।

वह पूर्व सांसद पप्पू यादव की पत्नी हैं। पप्पू यादव मधेपुरा से सांसद रहे हैं। बता दें कि पप्पू की पत्नी रंजीत रंजन टेनिस खिलाड़ी थीं. 2004 मे रंजीत रंजन ने 14वीं लोकसभा चुनाव में लोक जनशक्ति पार्टी के उम्मीदवार के रूप में नए संकल्प के साथ चुनाव लड़ा और सहरसा सीट पर जीत हासिल की।

उन्होंने जदयू के दिनेश चंद्र यादव को 30,787 मतों के अंतर से हराया।2009 मे उन्होंने कांग्रेस उम्मीदवार के रूप में सुपौल निर्वाचन क्षेत्र से आम चुनाव लड़ा और हार गईं।2014 मे वे सुपौल से लोकसभा में दूसरा कार्यकाल पूरा करने के लिए फिर से चुनी गईं। उन्होंने जेडीयू के दिलेश्वर कामायत को 59,672 मतों के अंतर से हराया।दरअसल, राज्यसभा सदस्य रामविचार नेताम और छाया वर्मा का कार्यकाल 29 जून को समाप्त होगा। छत्तीसगढ़ में राज्यसभा की 2 सीटें खाली होने के बाद राजीव शुक्ला और रंजीत रंजन को राज्यसभा भेजने की तैयारी कर रही है। इसके लिए 30 मई को नामांकन भरा जाएगा और 10 जून को चुनाव और मतगणना की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *