राज्यसभा चुनाव के लिए इन चार राज्यों में दिखी कड़ी टक्कर, जानिए कहां किसने मारी बाजी

बिलासपुर।देश के 4 राज्यों में राज्यसभा की 16 सीटों पर हुए चुनाव के परिणाम (Rajya Sabha Election Result) आ गए हैं. राजस्थान से कांग्रेस के तीनों उम्मीदवार प्रमोद तिवारी (Pramod Tiwari), मुकुल वासनिक और रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) को जीत हासिल हुई. जबकि बीजेपी (BJP) के पूर्व मंत्री घनश्याम तिवारी ही राज्यसभा पहुंच सके. हरियाणा की दो सीट में बीजेपी ने एक सीट पर कब्जा कर लिया. दूसरी सीट पर निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा (Kartikeya Sharma) को जीत मिली. 

महाराष्ट्र की 6 सीटों में से बीजेपी ने राज्यसभा की तीन सीटों पर जीत दर्ज की. शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी ने एक-एक सीट पर जीत हासिल की. कर्नाटक में जनता दल सेकुलर (JDS) को बड़ा झटका लगा है. जेडीएस को एक भी सीट नहीं मिली. बीजेपी को 3 और कांग्रेस को एक सीट मिली है. इससे पहले राज्यसभा चुनाव को लेकर दिनभर चली गहमागहमी के बाद शुक्रवार शाम के दौरान महाराष्ट्र और हरियाणा में वोटों की गिनती रोक दी गई थी.

राजस्थान में किसने मारी बाजी?

राजस्थान में राज्यसभा की 4 सीटों के लिए हुए चुनाव में कांग्रेस ने 3 सीटों पर जीत दर्ज की है. राजस्थान से कांग्रेस के तीनों उम्मीदवार प्रमोद तिवारी, रणदीप सुरजेवाला और मुकुल वासनिक को जीत हासिल हुई. जबकि बीजेपी के पूर्व मंत्री घनश्याम तिवारी ही उच्च सदन पहुंच सके. इस चुनाव में निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा चुनाव हार गए. रणदीप सुरजेवाला (Randeep Surjewala) को राज्यसभा चुनाव में 43 वोट मिले, जबकि मुकुल वासनिक को 42 वोट. वासनिक के खाते का एक वोट रिजेक्ट हुआ है. घनश्याम तिवारी को 43 वोट मिले. जबकि प्रमोद तिवारी को 41 वोट मिले. वहीं निर्दलीय उम्मीदवार सुभाष चंद्रा के खाते में महज 30 वोट आए. चुनावों में तीन सीटों पर जीत के बाद कांग्रेस खेमे में खुशी की लहर है.

हरियाणा में क्या रहा हाल?

हरियाणा में राज्यसभा की 2 सीटों के लिए हुए चुनाव में बीजेपी के कृष्ण लाल पंवार और निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा को जीत मिली है. वहीं कांग्रेस के अजय माकन को चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है. हरियाणा में कांग्रेस विधायक भारत भूषण बत्रा के अनुसार बहुत कम अंतर से अजय माकन हार गए. हरियाणा में कुल 90 में 89 सदस्यों ने वोट किया, निर्दलीय विधायक बलराज कुंदू ने अपना वोट नहीं डाला. बीजेपी ने यहां पूर्व मंत्री कृष्ण लाल पंवार को उम्मीदवार बनाया था. वहीं कांग्रेस से पूर्व मंत्री अजय माकन मैदान में उतरे थे. निर्दलीय कार्तिकेय शर्मा को बीजेपी ने समर्थन दिया था. राज्यसभा में बीजेपी की जीत होने पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कृष्ण लाल पंवार और निर्दलीय उम्मीदवार कार्तिकेय शर्मा को बधाई दी है.

कर्नाटक में किसने मारी बाजी?

कर्नाटक में 4 सीट के लिए राज्यसभा चुनाव में बीजेपी ने तीन सीटों पर जीत दर्ज की है. कांग्रेस के खाते में केवल एक सीट आई. जबकि पार्टी ने दो सीट पर अपने उम्मीदवार उतारे थे. जनता दल सेक्युलर (JDS) एक भी सीट नहीं जीत पाया. JDS ने पर्याप्त वोट न होने के बावजूद अपना एक उम्मीदवार खड़ा किया था. दिलचस्प है कि व्हिप जारी होने के बावजूद जेडीएस के एक विधायक ने कांग्रेस उम्मीदवार को वोट दे दिया. मतगणना के बाद चुनाव अधिकारियों ने बीजेपी नेता और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण, अभिनेता-नेता जग्गेश और निवर्तमान विधान पार्षद लहर सिंह सिरोया और कांग्रेस के नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री जयराम रमेश को विजयी घोषित किया. कर्नाटक से 4 सीट के लिए राज्यसभा चुनाव में कुल 6 उम्मीदवार मैदान में थे. चौथी सीट के लिए चुनाव में बीजेपी के तीसरे उम्मीदवार लहर सिंह सिरोया, मंसूर अली खान (कांग्रेस के दूसरे उम्मीदवार) और डी कुपेंद्र रेड्डी (JDSके एकमात्र उम्मीदवार) के बीच सीधा मुकाबला हुआ.

महाराष्ट्र में किसे मिली कितनी सीटें?

महाराष्ट्र (Maharashtra) की 6 सीटों में से बीजेपी ने तीन, शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी ने एक-एक सीट पर जीत हासिल की. पीयूष गोयल (Piyush Goyal) और अनिल बोंडे (Anil Bonde) को 48-48 वोट मिले. इसके साथ ही बीजेपी के तीसरे उम्मीदवार धनंजय महादिक (Dhananjay Mahadik) को शिवसेना के संजय राउत से अधिक वोट मिले. शिवसेना के संजय राउत (Sanjay Raut) और एनसीपी के प्रफुल्ल पटेल को चुनाव में जीत मिली है. कांग्रेस उम्मीदवार इमरान प्रतापगढ़ी भी विजयी हुए. हालांकि महा विकास अघाड़ी के चौथे उम्मीदवार संजय पवार नहीं जीत सके. यहां बीजेपी ने महाराष्ट्र में MVA के तीन विधायकों सुहास कांदे (शिवसेना), यशोमति ठाकुर (कांग्रेस) और जितेंद्र अव्हाड (NCP) पर नियमों के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए उनके वोट को खारिज करने की मांग की थी. महाराष्ट्र में 288 में से सिर्फ 285 सदस्य ही वोट कर सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *