प्रियंका ने खुले मंच से की भूपेश बघेल की जमकर तारीफ़….. यूपी में भी छत्तीसगढ़ मॉडल अपनाने का ऐलान

लखनऊ । कांग्रेस के खुले मंच से एक बार फिर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनकी सरकार के कामकाज की खुलकर तारीफ हुई है।  यूपी के बुंदेलखंड इलाके के महोबा में प्रतिज्ञा रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस महासचिव और यूपी प्रभारी प्रियंका गांधी ने एक तरह से यूपी के किसानों को अपने वादे पर भरोसा दिलाने के लिए छत्तीसगढ़ का उदाहरण पेश किया। उन्होंने ऐलान किया कि छत्तीसगढ़ की तरह यूपी में भी कांग्रेस की सरकार बनने पर सभी किसानों का कर्जा माफ होगा। यूपी में भी ढाई हज़ार रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से धान की खरीदी होगी और आवारा पशुओं की समस्या से निजात दिलाने के लिए गोधन न्याय योजना जैसा कार्यक्रम चलाया जाएगा। यूपी के चुनाव में छत्तीसगढ़ को लेकर चल रही इस तरह की चर्चा और कांग्रेस पार्टी के रुख से छत्तीसगढ़ की भूपेश सरकार को मजबूती भी मिल रही है।

यूपी चुनाव से पहले सरगर्मियां तेज हो गई है। कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुंदेलखंड इलाके का दौरा किया था। जवाबी तौर पर यूपी की कांग्रेस प्रभारी प्रियंका गांधी ने शनिवार को एक बड़ी प्रतिज्ञा रैली की। जिसमें बुंदेलखंड इलाके के कांग्रेस नेताओं के साथ ही मध्य प्रदेश के भी कांग्रेस जन शामिल हुए। लेकिन इस रैली में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपनी एक अलग पहचान बनाई। रैली में शामिल होने प्रियंका गांधी के साथ पहुंचे भूपेश बघेल ने एक अलग अंदाज में अपना भाषण दिया। उन्होंने बुंदेलखंड इलाके के लोगों से कहा कि बुंदेलखंड कभी अन्याय सहता नहीं है और इस इलाके के साथ लगातार अन्याय हो रहा है। उन्होंने हाल के दिनों में नरेंद्र मोदी और योगी आदित्यनाथ के वीडियो / फोटो वायरल होने पर भी चुटकी ली। भूपेश बघेल ने कहा कि कांग्रेस यूपी चुनाव के लिए यूपी के लोगों के सामने जो वादे कर रही है वह क़ोरा वादा नहीं है। छत्तीसगढ़ में यह सब कर दिखाया है। उन्होंने बताया कि 2018 में कांग्रेस नेता राहुल गांधी छत्तीसगढ़ आए थे और कांग्रेस की सरकार बनने पर 10 दिन में किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया था। छत्तीसगढ़ के लोगों ने कांग्रेस को तीन चौथाई बहुमत दिया और सरकार बनने के बाद उसी दिन सबसे पहला काम किसानों का कर्जा माफ किया गया। इसी तरह हिंदुस्तान में सबसे अधिक धान की कीमत ढाई हजार रुपए प्रति क्विंटल छत्तीसगढ़ के किसानों को मिल रही है । छत्तीसगढ़ में सरकार ने बिजली बिल हाफ किया। भूपेश बघेल ने बीजेपी के लोगों की ओर इशारा करते हुए कहा कि वे लोग केवल गौ माता की बात करते हैं। लेकिन छत्तीसगढ़ ने गोधन न्याय़  योजना शुरू कर गौ माता के संरक्षण के लिए अभिनव पहल की है। पूरे हिंदुस्तान में कोई सरकार गाय का गोबर नहीं खरीदी है। लेकिन छत्तीसगढ़ की सरकार 2 रुपए प्रति किलो में गोबर खरीद रही है। इससे वर्मी कंपोस्ट खाद भी बन रहा है। बिजली तैयार करने की भी शुरुआत हो रही है। अब गोबर से पेंट तैयार करने का काम भी शुरू किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इससे छत्तीसगढ़ में आवारा पशुओं की समस्या से निपटने में मदद मिली है।मंच पर भूपेश बघेल आत्मविश्वास से भरे नज़र आए और उन्होने जोश – ख़रोश के साथ भाषण दिया ।

प्रियंका गांधी ने भी अपने भाषण में भूपेश बघेल की तारीफ की। उन्होंने कहा कि सरकार की नीयत अगर ठीक हो तो बेहतर काम किया जा सकता है। उन्होंने छत्तीसगढ़ को कांग्रेस के एक मॉडल के रूप में पेश किया। उन्होंने कहा कि जिस तरह छत्तीसगढ़ में किसानों का कर्ज माफ किया गया है उसी तरह यूपी में सरकार बनने के बाद किसानों का कर्ज माफ किया जाएगा। इसी तरह किसानों को ढाई हज़ार रुपए प्रति क्विंटल धान की कीमत मिलेगी। बिजली में भी राहत दी जाएगी। आवारा पशुओं की समस्या दूर करने के लिए यूपी में भी छत्तीसगढ़ का मॉडल अपनाया जाएगा। प्रियंका गांधी ने यह भी बताया कि कांग्रेस ने अब तक किसानों का 72000  करोड़ रुपए का कर्ज माफ किया है। उन्होंने भाजपा पर झूठे प्रचार का आरोप भी लगाया। साथ ही बुंदेलखंड के विकास को लेकर कांग्रेस की योजनाओं के बारे में भी विस्तार से बताया। उन्होंने यह बात भी कही कि लोग चुनाव के लिए धर्म / जाति का प्रयोग करते हैं। राजनीति में धर्म और जाति का प्रतिनिधित्व होना चाहिए। लेकिन चुनाव में विकास की ही बात होनी चाहिए। चुनाव में यह बताया जाना चाहिए कि पार्टी सरकार में आएगी तो विकास के लिए क्या काम करेगी और  पार्टी की जवाबदारी विकास को लेकर होनी चाहिए। उन्होंने कोरोना काल के दौरान हुई परेशानियों के बारे में भी अपनी बात रखी और बुंदेलखंड विकास बोर्ड बनाए जाने का वादा भी किया।

लेकिन चुनाव से पहले कांग्रेस के वादों पर यूपी के लोगों को भरोसा दिलाने के लिए प्रियंका ने छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और वहां की कांग्रेस सरकार के कामकाज को एक उदाहरण और मॉडल के रूप में पेश किया। जिससे संकेत मिल रहे हैं कि छत्तीसगढ़ की मौजूदा सरकार का मॉडल कांग्रेस की चुनाव मुहिम का अहम हिस्सा होने जा रहा है । इसकी झलक आने वाले दिनों में भी मिलती रहेगी।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *