रिटायर्ड शिक्षक के घर सेक्स रैकेट: पति-पत्नी ऑनलाइन चला रहे थे रैकेट

पटना ।पटना के दीघा थाने की पुलिस ने रिटायर्ड शिक्षक के घर पर रेड कार्रवाई करते हुए बड़े सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है। इस कार्रवाई में बंगाल की दो युवतियों को देह व्यापार के इस दलदल से निकाला है। सेक्स रैकेट सरगना दंपति ने रिटायर्ड शिक्षक के मकान के निचले तल्ले को किराये पर लिया था। दरअसल तीन महीने पहले आरोपी मधुकर सहाय ने खुद को एक कंपनी का कर्मी बताकर राजीवनगर रोड नंबर 23 अमरूदी बगीचा स्थित रिटायर्ड शिक्षक मकान के निचले तल्ले को किराये पर लिया था। इसके बाद उसकी गतिवविधि संदिग्ध प्रतीत होने लगी। मूल रूप से पश्चिम बंगाल की रहने वाली रूपा को उसने अपना पत्नी बताया था। जान-बूझकर सेक्स रैकेट सरगना ने अच्छी जगह पर किराये का कमरा लिया ताकि को शक न हो।छत्तीसगढ़ की अहम खबरें अब आपके मोबाइल पर।हमारे न्यूज़ ग्रुप से जुड़ने के लिए यहां क्लिक करें

कस्टमर्स को लाने के लिए सेक्स रैकेट चलाने वालों ने दलाल के साथ ही व्हाट्सएप का सहारा लिया जाता था। ऑफलाइन और ऑनलाइन तरीके से लड़कियों के फोटो पहले कस्टमर्स को दिखाए जाते थे। इसके बाद दो-तीन हजार या इससे अधिक में डील तय होती थी। कस्टमर्स को ठिकाने पर लाने का काम दलाल करता था। शराब के साथ ही जिन सामानों को अलग से उपलब्ध कराया जाता था, उसके लिए अलग से रुपये वसूल किए जाते थे। सेक्स रैकेट का यह गोरख धंधा पिछले कई दिनों से चल रहा था। लेकिन, किसी तरह इसकी जानकारी दीघा थाना की पुलिस को हुई। थानेदार राजकुमार पांडेय ने अपने एक अधिकारी को ग्राहक बनाकर धंधेबाजों के ठिकाने की रेकी कराई। उसके बाद पुलिस ने छापेमारी की।

पुलिस ने छापेमारी की उस दरम्यान वहां दलाल विश्वजीत कुमार मौजूद था। उसे वहीं से गिरफ्तार कर लिया गया। विश्वजीत अरवल के किंजर के खैराडीह का निवासी है। यह कस्टमर्स को लाने का काम करता था। जबकि, सेक्स रैकेट को मधुकर सहाय अपनी पत्नी रूपा सहाय के साथ मिलकर चला रहा था। फिलहाल ये दोनों फरार हो गए हैं। मधुकर सहाय मूल रूप से मुजफ्फरपुर के मोतीझील के नया टोला का रहने वाला है। छापेमारी के दौरान कमरे से आपत्तिजनक सामान बरामद किए गए। दो लड़कियों को रेस्क्यू कराया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *