अरपा नदी से रेत उत्खनन का आया सवाल..सीएम भूपेश ने बताया..तैयार हो रहा 4C का डीपीआर.. खदान में डूबने से नहीं हुई..किसी भी बच्चे की मौत

सरकारी बैंक, किसान, कर्ज माफी,chhattisgarh,farmer,loan,government bank
बिलासपुर— सदन में बिलासपुर एअरपोर्ट 4C उन्नयन समेत नाइट लैंडिंग को लेकर नगर विधायक शैलेष पाण्डेय ने सवाल किया। पाण्डेय ने पूछा कि बिलासपुर स्थित अरपा नदी में रेत उत्खनन का अधिकार किस संस्था को है। रेत खदान में डूबने से कितने बच्चों की मौत हुई है। 
                बुधवार को शैलेष पाण्डेय ने चकरभाठा स्थित एअरपोर्ट के उन्नयन को लेकर सवाल दागा। इसके अलावा अरपा नदी में रेत उत्खनन को लेकर भी प्रश्न किया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बताया कि बिलासपुर एयरपोर्ट को 4C-IFR श्रेणी में विकसित करने की संभावना को लेकर भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण विषेषज्ञ दल ने दिसम्बर 2021 में प्री- फिसीबिलिटी स्टडी किया है।
               प्रतिवेदन में बताया गया है कि 4C-IFR श्रेणी में एयरपोर्ट विकास के पहले 3C-IFR श्रेणी मापदण्ड अनुसार एयरपोर्ट में रात्रि उड़ान संचालन की सुविधा विकसित किए जाने की जरूरत है। लाईटिंग का कार्य किया जाना है। प्राक्कलन का परीक्षण किया जा रहा है।
                 भविष्य में एयरपोर्ट में बढ़ने वाले ट्रैफिक की संभावना के मद्देनजर 4C-IFR श्रेणी मानक 300 यात्रियों के आवागमन की क्षमता के लिए नवीन टर्मिनल भवन के निर्माण जरूरी है। कंसल्टेण्ट के माध्यम से DPR तैयार किया जा रहा है।
रेत खनन..बच्चों की मौत
                बिलासपुर अरपा नदी में रेत खनन का अधिकार किसे दिए गया है। खनन करने वाली संस्थाओं ने जनहित में क्या-क्या कार्य किए हैं। शैलेष पाण्डेय के सवाल पर सीएम ने बताया कि  बिलासपुर जिलांतर्गत अरपा नदी में रेत खनन् की जिम्मेदारी किसी भी संस्था को नहीं दी गयी है। रिवर्स ऑक्शन के माध्यम से 8 रेत खदानें स्वीकृत होकर संचालित है।
             पट्टेदारों से सीधे जनहित के कार्य कराये जाने का प्रावधान खनिज नियमों में नहीं है। छत्तीसगढ़ गौण खनिज रेत नियम, 2019 के अनुसार रेत खदानों से हासिल रॉयल्टी राशि का 25 प्रतिशत राशि बढ़ाकर शासन के निकायों को दिया जाता है।  रॉयल्टी का 10 प्रतिशत हिस्सा डी.एम.एफ. के माध्यम से क्षेत्र के विकास में खर्च किया जाता है।  जनवरी, 2019 से जून, 2022 के बीच स्वीकृत रेत खदान क्षेत्र में डूबने से किसी भी बच्चे की मौत नहीं हुई है। यद्यपि अरपा नदी के अन्य भाग में 11 बच्चो की मौत डूबने से जरूर हुई है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *